सिंघु बॉर्डर पर हत्या (Singhu Border Lynching Updates) के मामले में हरियाणा पुलिस ने एक व्यक्ति को हिरासत में लिया है। अब इस मामले की आरोपी ने कहा है कि उसे अपने किए का कोई पछतावा नहीं है। हत्या करने के कुछ घंटों बाद, निहंगों (Nihang Sardar Savarjit) के नीले वस्त्र पहने एक व्यक्ति मीडिया के सामने आया, जिसने दावा किया कि उसने सिख पवित्र ग्रंथ गुरु ग्रंथ साहिब को अपवित्र करने के लिए पीड़ित को सजा दी और उसे मार डाला। 

संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने इस मामले में जांच की मांग उठाई है। हत्या करने वाले सरवजीत सिंह (Nihang Sardar savarjit) ने बाद में पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया, अपराधी ने और उसके सहयोगियों ने मीडियाकर्मियों के सामने कहा कि वे फिर से इस तरह की चीजें करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि यदि कोई फिर से ऐसा अपराध करने की हिम्मत करता है तो वे फिर ऐसा कदम उठाएंगे। जब आरोपी से पूछा गया कि क्या उन्हें अपने किये का कोई पछतावा है, तो आरोपी सिंह ने कहा कि उसे अपने किए का कोई पछतावा नहीं हैं। जब पुलिस ने उसे हिरासत में लिया तो वह जो बोले सो निहाल का नारा लगाते हुए गिरफ्तार हो गया।