कार्तिक पूर्णिमा स्नान के दौरान शहर से सटे बूढ़ी गंडक के बारा घाट पर एक 18 वर्षीय युवक की डूबने से मौत हो गई। शव के नहीं मिलने से आक्रोशित लोगों ने एनडीआरएफ टीम को मंगाने एवं मुआवजा की मांग को लेकर ढाई घंटे तक राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम करके रखा, जिसकी वजह से राहगीरों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

फंसा राज्यपाल का काफिला

यहीं नहीं इस दौरान यहां से गुजर रहे सिक्किम के राज्यपाल गंगा प्रसाद चौरसिया के काफिले को काफी मशक्कत से निकाला गया। ज्ञात हो कि मृतक मधुबन थाना क्षेत्र के सवंगिया निवासी कामेश्वर प्रसाद का 18 वर्षीय पुत्र सोनू कुमार बताया गया है। जाम के कारण एनएच की दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतार लग गई। दूर-दराज से आने-जाने वाले यात्रियों को जाम के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ा। आक्रोशित लोग नदी से शव को निकालने व उचित मुआवजा देने की मांग कर रहे थे।

आश्वासन के बाद समाप्त हुआ जाम

जाम स्थल पर एसडीओ बृजेश कुमार, डीएसपी शैलेन्द्र कुमार, सीओ राजकिशोर साह, इंस्पेक्टर सह थानाध्यक्ष निर्मल कुमार ने आक्रोशित लोगों को समझाकर व एसडीआरएफ की टीम बुलाकर शव को नदी से निकलवाने का आश्वासन देकर जाम समाप्त कराया।