सिक्किम के गुरुद्वारों में सिख धार्मिक मर्यादा का उल्लंघन हो रहा है। इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एसजीपीसी ने सिक्किम के मुख्यमंत्री और राज्यपाल को पत्र लिख कर मांग की है कि सिक्किम के गुरु डोंगमर और चुंग थांग स्थित पहले पातशाह श्री गुरु नानक देव जी से संबंधित गुरुद्वारों का प्रबंध वहां के सिखों को सौंप दिया जाए। ताकि वहां सिख धार्मिक मर्यादा का हो रहा उल्लंघन बंद किया जा सके।

एसजीपीसी के अध्यक्ष प्रो. किरपाल सह बडूंगर की ओर से सिक्किम के मुख्यमंत्री पवन कुमार चाम लग और राज्यपाल निवास पाटिल को भेजे पत्र में कहा कि उन्हें जानकारी मिली है कि गुरुद्वारा साहिब की इमारत को बौद्ध स्थल में बदला जा रहा है। 

श्री गुरु ग्रंथ साहिब के पावन स्वरूप के पास मूर्तियां स्थापित की जा रही हैं। इस के चलते सिखों की धार्मिक भावनाएं आहत हो रही हैं। गुरुद्वारों में धार्मिक मर्यादा कायम रहे इस के लिए यहां के गुरुद्वारों का प्रबंध वहां के सिखों को सौंपा जाए।