पटियाला। पंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पंजाब की पटियाला सेंट्रल जेल में बंद बतौर क्लर्क के रूप में काम करेंगे। जानकारी के अनुसार कैदी नंबर 241383 नवजोत सिंह सिद्धू को बैरक नंबर 7 में रखा गया है। उन्हें क्लर्क का काम दिया गया है। हालांकि सुरक्षा कारणों के चलते सिद्धू अपनी सेल से काम करेंगे। फाइलें उनके बैरक में भेजी जाएंगी। पहले तीन महीने उन्हें बिना वेतन के प्रशिक्षित किया जाएग और बाद में प्रतिदिन 30-90 रुपये का भुगतान किया जाएगा। ये पैसे सीधे उनके खाते में भेजे जाएंगे। जेल में बंद कैदी दिन में आठ घंटे काम कर सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः 2 हजार से ज्यादा राजनीतिक दलों पर बड़ा एक्शन लेने की तैयारी में चुनाव आयोग, जानें पूरा मामला


जेल अधिकारियों ने कहा कि 58 वर्षीय सिद्धू को सिखाया जाएगा कि अदालत के लंबे फैसलों को कैसे संक्षिप्त किया जाए और जेल रिकॉर्ड कैसे संकलित किया जाए। सिद्धू को ‘रोड रेज' मामले में एक साल की सजा सुनाई गई है। जिसके बाद उन्हें पटियाला सेंट्रल जेल में बंद कर दिया गया। पहले दिन उन्होंने जेल में खाना नहीं खाया था। वहीं तबीयत सही नहीं होने के कारण सिद्धू को मेडिकल जांच के लिए पटियाला के राजिंद्र अस्पताल ले जाया गया था।

ये भी पढ़ेंः BJP नेता ने ओवैसी को दी चुनौती, कहा - सभी मस्जिदों की करो खुदाई, शिवलिंग मिले तो हमारा और शव मिले तो तुम्हारा

सिद्धू के वकील के अनुसार वकील के वे गेहूं, चीनी, मैदा और कुछ अन्य खाद्य पदार्थों का सेवन नहीं कर सकते। वे जामुन, पपीता, अमरूद, डबल टोंड दूध और खाद्य पदार्थ ले सकते हैं। जिनमें फाइबर और कार्बोहाइड्रेट नहीं होते हैं। ऐसे में जेल का खाना वो नहीं खा सकते हैं। वहीं अदालत ने डॉक्टरों के एक पैनल द्वारा सुझाए गए सात-भोजन आहार चार्ट को मंजूरी दे है। ये खाना अब उन्हें जेल में दिया जाएगा।