नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान की प्रशंसा करते हुए उन्हें ईमानदार बताया है। इतना ही नहीं, उन्होंने कुछ मुद्दों पर अपपना समर्थन भी दिया। सिद्धू ने कहा कि वह पार्टी लाइन से ऊपर उठकर राज्य में माफियाओं से निपटने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री का समर्थन करेंगे। पंजाब सरकार की आलोचना करने के एक दिन बाद सिद्धू ने यह प्रशंसा की है। इससे पहले उन्होंने भगवंत मान पर पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप संयोजक अरविंद केजरीवाल की कठपुतली की तरह काम करने का आरोप लगाया था।

यह भी पढ़े : बिहार में किसी बड़े राजनीतिक उलटफेर की आहट, राबड़ी देवी की इफ्तार पार्टी में पहुंचे CM Nitish


मीडिया के साथ बातचीत की एक क्लिप जिसे उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट किया, सिद्धू ने कहा कि कांग्रेस को सत्ता में वापस आने के लिए पंजाब में खुद को पुनर्जीवित करने की आवश्यकता है। उन्होंने आगे कहा कि राज्य माफिया और ईमानदार लोगों के बीच लड़ाई देख रहा है। इसके बाद सिद्धू मुख्यमंत्री की तारीफ करते हैं। उन्होंने कहा, "मैं उन्हें अपना छोटा भाई मानता हूं। वह एक ईमानदार आदमी हैं। मैंने उन पर कभी उंगली नहीं उठाई। अगर वह इसके (माफिया) के खिलाफ लड़ते हैं, तो मेरा समर्थन उनके साथ है। मैं पार्टी लाइन से ऊपर उठूंगा क्योंकि यह लड़ाई है पंजाब का अस्तित्व की है।"

यह भी पढ़े : ओला इलेक्ट्रिक ने स्कूटर में खराबी से किया इंकार, दावा किया कि एक्सीडेंट ओवरस्पीडिंग के कारण हुआ 


मान पर सिद्धू के हमले के एक दिन बाद यह बयान आया। उन्होंने पंजाब सरकार नामक एक स्कूटर के सामने सवार मुख्यमंत्री का एक कार्टून साझा किया और केजरीवाल की कुठपुतली करार दिया। उन्होंने ट्वीट कर कहा, "पंजाब सरकार अरविंद केजरीवाल की कठपुतली की तरह काम कर रही है। कुमार विश्वास और अलका लांबा के खिलाफ पुलिस कार्रवाई से पता चलता है कि इसका इस्तेमाल उनके आलोचकों को चुप कराने के लिए किया जा रहा है। कांग्रेस अलका लांबा के साथ मजबूती से खड़ी है। उनके साथ पुलिस स्टेशन जाएगी और पंजाब पुलिस के राजनीतिकरण का विरोध करेगा।

यह भी पढ़े : बिहार में किसी बड़े राजनीतिक उलटफेर की आहट, राबड़ी देवी की इफ्तार पार्टी में पहुंचे CM Nitish

आरको बता दें कि कवि कुमार विश्वास और पूर्व AAP नेता अलका लांबा इन दिनों अरविंद केजरीवाल के खिलाफ अपनी टिप्पणी के लिए पंजाब पुलिस द्वारा कार्रवाई का सामना कर रही हैं।  आपको बता दें कि पंजाब में आप की प्रचंड जीत के फौरन बाद भगवंत मान ने लोगों को आश्वासन दिया था कि वह सीमावर्ती राज्य में खनन और नशीले पदार्थों जैसे क्षेत्रों में सक्रिय माफिया के खिलाफ कार्रवाई करेंगे।