पंजाब कांग्रेस चीफ नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मालविंदर सिंह माली ने इस्तीफा दे दिया है।  माली ने दावा किया कि उनकी जान को खतरा है। 

उन्होंने कहा कि अगर उन्हें कुछ होता है तो राज्य के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह जिम्मेदार होंगे।  बता दें माली, सिद्धू के सलाहकार थे।  माली के इस्तीफे के बाद कांग्रेस नेता राजकुमार वेरका ने कहा कि माली एजेंडा सेट कर रहे थे। 

वेरका ने कहा- मालविंदर गलत हाथों में खेल रहे थे।  PPCC सिद्धू के साथ गलत आदमी जुड़ा हुआ था।  उन्होंने कहा कि माली का जाना पार्टी के लिए सही है। 

पंजाब  कांग्रेस चीफ नवजोत सिंह सिद्धू  के सलाहकार मालविंदर सिंह माली ने इस्तीफा दे दिया है।  माली ने दावा किया कि उनकी जान को खतरा है।  उन्होंने कहा कि अगर उन्हें कुछ होता है तो राज्य के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह  जिम्मेदार होंगे।  बता दें माली, सिद्धू के सलाहकार थे।  माली के इस्तीफे के बाद कांग्रेस नेता राजकुमार वेरका ने कहा कि माली एजेंडा सेट कर रहे थे।   वेरका ने कहा, ‘मालविंदर गलत हाथों में खेल रहे थे। ’ वेरका ने कहा कि PPCC चीफ सिद्धू के साथ गलत आदमी जुड़ा हुआ था।  उन्होंने कहा कि माली का जाना पार्टी के लिए सही है। 

वहीं बीजेपी नेता आरपी सिंह ने कहा कि माली केस दर्ज कराने के बाद हटे।  उन्होंने कहा कि राज्य में कांग्रेस की सरकार है लेकिन मामला हमें दर्ज कराना पड़ा।  सिंह ने कहा कि जरूरी मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए कांग्रेस ऐसे बयान दिलवा रही है। 

बीते दिनों पंजाब में मंत्रियों और विधायकों के एक समूह ने मंगलवार को कांग्रेस की प्रदेश इकाई के प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार की ‘कथित राष्ट्र विरोधी एवं पाकिस्तान समर्थक टिप्पणी’ को लेकर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी।  सलाहकार रहे मालविंदर सिंह माली अपनी हालिया विवादास्पद टिप्पणियों को लेकर विपक्ष और पार्टी के निशाने पर आ गए थे। 

मंत्री ब्रह्म मोहिंद्रा, विजय इंदर सिंगला, भारत भूषण आशु, बलबीर सिंह सिद्धू और साधु सिंह धर्मसोत के साथ विधायक राज कुमार वेरका ने कहा था कि सिद्धू के नवनियुक्त सलाहकार की टिप्पणी स्पष्ट रूप से ‘भारत के हितों के खिलाफ और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए नुकसानदेह’ थी। 

उल्लेखनीय है कि पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मालविंदर सिंह माली ने कथित तौर पर दावा किया था कि ‘कश्मीर, कश्मीरी लोगों का देश है।