दूध में तुलसी (Milk and Tulsi) डालकर सेवन करना सेहत को नुकसान भी पहुंचा सकता है। तुलसी (Tulsi) में एंटीबैक्टीरियल, एंटीमाइक्रोबियल, एंटी इंफ्लामेट्री गुण पाए जाते हैं जिसकी वजह से कई बीमारियों में इसका इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है, लेकिन गर्म दूध (Milk) में तुलसी (Tulsi) मिलाकर पीते हैं तो ये खतरनाक भी हो सकता है। इससे आपकी बीमारी बढ़ सकती है।

दूध में प्रोटीन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस, सोडियम, जिंक, कॉपर, विटामिन बी 6, विटामिन सी, विटामिन डी, विटामिन के, विटामिन ई जैसे पोषक तत्व होते हैं, लेकिन एक्सपर्ट्स के मुताबिक, दोनों चीजों का साथ में सेवन करते समय कुछ सावधानियां बरतें।

गर्भवती महिलाओं के लिए—
प्रेग्नेंट और ब्रेस्टफीडिंग कराने वाले महिलाओं के लिए दूध और तुलसी का सेवन नुकसानदेह हो सकता है।

ब्लीडिंग की समस्या
खून पतला है या खून पतला करने की दवाई ले रहे हैं, तो भी आपको दूध के साथ तुलसी के सेवन से बचना चाहिए। इससे ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है।

घट सकता है स्पर्म काउंट
दूध के साथ ज्यादा मात्रा में तुलसी का सेवन करते हैं तो इससे पुरुषों में स्पर्म काउंट कम होने का जोखिम बढ़ सकता है।

शुगर लेवल बहुत कम
शुगर की दवा लेते हैं तो तुलसी का सेवन सीमित मात्रा में करें। इससे ब्लड ग्लूकोज लेवल बहुत ज्यादा कम हो सकता है।

-अगर आप सीधे पौधे से तुलसी का इस्तेमाल कर रहे हैं तो तुलसी को अच्छे से धो लें।

-ज्यादा गर्म दूध में तुलसी के अर्क का इस्तेमाल न करें। इससे दूध फट सकता है।

-दूध में तुलसी डालने से पहले डंठल को तोड़ लें और बासी तुलसी का इस्तेमाल भूल से भी न करें।