भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से बढ़ता जा रहा है।  देश में एक तरफ जहां कोरोना मरीजों की संख्या 40 लाख पहुंचने वाली है तो वहीं एस महामारी से अब तक 66 हजार से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है।  इस माहामारी से बचने के लिए लोगों को मास्क का इस्तेमाल (Mask)और सामाजिक दूरी (social distancing) के नियमों का पालन करने की सलाह दी जा रही है।  वहीं लोगों के इस सवाल पर कि कार में अकेले जा रहे हैं, तो भी लगाना होगा मास्क इस पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज बयान दिया है। 

गुरूवार को हुए प्रेस कॉन्फ्रेंस में स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि अगर कोई अकेले कार में जा रहा है तो उसके लिए मास्क लगाने की कोई गाइडलाइ जारी नहीं हुई हैं।  साइकल चलाने वाले भी अगर अकेले चल रहे हैं तो मास्क लगाने की कोई गाइडलाइन नहीं है।  ग्रुप में साइकल चलाने पर मास्क लगाने की जरूरत है।  केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि अगर कार में एक से अधिक व्यक्ति हैं और लोगों का समूह व्यायाम कर रहा है तो संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनना जरूरी है। 

बता दें कि अगस्त के शुरूआती दिनों में दिल्ली पुलिस ने था कि कि कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए केंद्र सरकार की तरफ से जो गाइडलाइंस जारी की गई है, उसमें ऐसी कोई छूट नहीं दी गई है कि अगर आप कार में अकेले जा रहे हैं, तो मास्क नहीं पहनना है।  अकेले कार में मास्क ना पहने पर पुलिस द्वारा चलान भी काटने के कई मामले सामने आए थें, जिसपर लोगों ने अपना विरोध दर्ज कराया था, अब स्वास्थ्य मंत्रालय ने स्तिथि को साफ कर दिया है।