मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार (Shivraj government) ने आज प्रदेश के किसानों, आदिवासियों (Tribals) और गरीब जनता को बड़ी सौगात दी है. दरअसल शिवराज सरकार ने आज हुई कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) में किसानों और गरीबों को बिजली बिलों (Electricity Bill) पर 20 हजार करोड़ की सब्सिडी (Subsidy) देने का फैसला किया है. इसके साथ ही सरकार ने प्रदेश के 23 लाख से ज्यादा आदिवासी परिवारों को उनके घर पर ही राशन देने की योजना पर अंतिम मुहर लगा दी है.

कैसे मिलेगा लोगों को सब्सिडी का लाभ?

बता दें कि गृह ज्योति योजना के तहत सरकार प्रदेश के गरीब परिवारों को बिजली बिलों पर 5000 करोड़ की सब्सिडी देगी. गृह ज्योति योजना (Graha Jyoti Yojana) के तहत 100 यूनिट बिजली उपयोग करने पर गरीब तबके के उपभोक्ता को सिर्फ 100 रुपए के बिल का भुगतान करना होता है. हालांकि 100 से 150 यूनिट के बीच बिजली खपत करने वाले परिवारों से सामान्य दर से ही भुगतान लिया जाएगा.

वहीं किसान ज्योति योजना (Kisan Jyoti Yojana) के तहत सरकार 15 हजार करोड़ रुपए की सब्सिडी का लाभ किसानों को देगी. इस योजना में जो किसान 10 हॉर्स पावर तक का कृषि पंप इस्तेमाल करते हैं, उन्हें बिजली बिल पर 50 फीसदी की छूट दी जाएगी. मतलब सिंचाई के लिए 88 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली दी जाती है, जिसे घटाकर 44 पैसे प्रति यूनिट कर दिया गया है. सरकार की इस योजना से 20 लाख से ज्यादा किसान लाभान्वित होंगे.