समाजवादी पार्टी से अलग रहे विधायक और प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया (पीएसपीएल) के अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव सपा के एक और वरिष्ठ विधायक मोहम्मद आजम खान के साथ नया राजनीतिक मोर्चा बनाने की तैयारी कर रहे हैं। शिवपाल सिंह यादव, आजम खान की जेल से रिहाई का इंतजार कर रहे हैं। वह इस महीने कभी भी जेल से बाहर आ सकते है। आजम खान को एक मामले को छोड़कर सभी मामलों में पहले ही जमानत मिल चुकी है।

ये भी पढ़ेंः इस ट्रेन में आप बिना किराया दिए कर सकते हैं सफर, लड़की के बने हुए है कोच


सूत्रों के मुताबिक, जेल में आजम खान से मिल चुके शिवपाल ने नए राजनीतिक मोर्चे के लिए पहले ही ब्लूप्रिंट तैयार कर लिया है। इसमें उन नेताओं को शामिल किए जाने की संभावना है, जो भाजपा के साथ-साथ सपा से भी समान दूरी बनाए रखना चाहते हैं। आजम खान और शिवपाल यादव दोनों ही सपा प्रमुख अखिलेश यादव की कार्यशैली से बेहद खफा हैं और पार्टी में खुद को छोटा महसूस कर रहे हैं। पीएसपीएल के एक नेता, जो शिवपाल के करीब है, उन्होंने बताया कि शिवपाल की भाजपा में शामिल होने की कोई योजना नहीं है। वह अपनी पार्टी का पुनर्गठन करेंगे और एक नया राजनीतिक मोर्चा बनाने की दिशा में काम करेंगे। जिसमें भीम आर्मी के चंद्रशेखर, जन अधिकार पार्टी के बाबू सिंह कुशवाहा और राष्ट्रीय लोक दल के नेता शामिल हो सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः अब तुगलकाबाद में हुआ जबरदस्त एक्शन, अवैध निर्माण पर चल रहा बुलडोजर


सूत्रों ने कहा कि अखिलेश के नेतृत्व में कई दिग्गज जो असहज महसूस कर रहे थे, वे भी शिवपाल और आजम खान के पीछे जा सकते हैं। इस बारे में पूछे जाने पर शिवपाल ने मुस्कुराते हुए कहा, आजम खान को जेल से बाहर आने दो और फिर हम आपको अपनी योजनाओं के बारे में बताएंगे।