मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई और प्रमासपा के अध्यक्ष शिवपाल यादव अपने भतीजे सपा प्रमुख अखिलेश यादव के करीब आना चाहते हैं। वह चाहते हैं कि सपा के साथ उनकी पार्टी एक मंच पर दिखाई दे। इसके लिए शिवपाल ने कई बार मिलने के लिए अखिलेश यादव से समय मांगा लेकिन अभी तक समय नहीं मिल सका है। एक टीवी चैनल से बातचीत में भतीजे अखिलेश यादव को लेकर चाचा शिवपाल का दर्द छलका। 

मुलायम परिवार से अलग राह पकड़ने के सवाल पर शिवपाल ने कहा कि नेताजी (मुलायम सिंह यादव) हमेशा परिवार को साथ लेकर चले, फिर गांव को और फिर समाजवादी पार्टी को भी एक परिवार की तरह साथ लेकर चले। 

मुलायम सिंह यादव ने दुश्मनों को भी गले लगाया और आगे बढ़ते रहे। भतीजा (अखिलेश) भी उसी राह पर चले तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने कहा कि हमने तो समय-समय पर कई दफे अखिलेश से मिलने का समय मांगा लेकिन अब तक मिला नहीं है। शिवपाल यादव ने कहा कि नेताजी की बात मानी जाती तो तस्वीर और होती।

शिवपाल ने भतीजे अखिलेश यादव को आशीर्वाद देने के सवाल पर कहा कि चाचा शब्द में आत्मीयता है। कौन नहीं चाहेगा आशीर्वाद देना। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि समान विचारधारा वाले सभी सेक्यूलर दल एक साथ आएं और विजयी हों।

 उन्होंने कहा कि मेरी पहली और सबसे बड़ी प्राथमिकता समाजवादी पार्टी है। शिवपाल ने भाजपा सरकार को हर मोर्चे पर फेल बताया। उन्होंने कहा कि अब राजनीति धर्म के नाम पर नहीं, बेरोजगारी और किसानों के मुद्दे पर, भ्रष्टाचार के मुद्दे पर होगी।