महाराष्ट्र के चर्चित शीना बोरा हत्याकांड (Sheena Bora Murder Case) को लेकर नया खुलासा हुआ है। इस केस की मुख्य आरोपी इंद्राणी मुखर्जी (Indrani Mukerjea) ने अपनी बेटी शीना बोरा के जिंदा होने का करते हुए सनसनी फैला दी है। इंद्राणी ने CBI डायरेक्टर को एक चिट्ठी लिखकर दावा किया है कि उसकी बेटी शीना जिंदा है और वो इस वक्त कश्मीर है। अगर इंद्राणी की बात सच मान ली जाए तो सबसे बड़ा सवाल ये उठता है कि रायगढ़ के जंगल से मिले लाश के अवशेष शीना के नहीं थे, तो वो लाश किसकी थी।

सीबीआई की जांच में खुलासा हुआ था कि शीना बोरा की हत्या अप्रैल 2012 में की गई थी। उसकी लाश को रायगढ़ के पेन इलाके में जंगल के बीच दफन कर दिया गया था। यूं तो ये मामला महज एक राज ही बनकर रह जाता, लेकिन  23 मई 2012 को ही स्थानीय गांववालों को जंगल के बीच दफनाई गई लाश का पता चल गया था। उन्होंने इस घटना की जानकारी पेन थाना पुलिस को दी थी।

उस समय पेन थाना पुलिस मौके पर पहुंची लाश को जमीन से निकाला। पहचान करने की कोशिश की। लेकिन कुछ पता नहीं चला और फिर लाश का परीक्षण किया गया। कुछ सैंपल लिए गए और फिर पुलिस ने लाश को दफ्न कर दिया। वक्त बीतता गया। लेकिन यह मामला साल 2015 के दौरान चर्चाओं में आ गया। क्योंकि मरने वाली लड़की शीना बोरा एक हाई प्रोफाइल परिवार की लड़की थी। जो हत्या से पहले ही घर से गायब चल रही थी।

इस बात की पुष्टि एम्स की फोरेंसिक रिपोर्ट ने भी की थी कि रायगढ़ के जगंल में मिले लाश के अवशेष शीना बोरा के ही थे। यह रिपोर्ट सीबीआई को सौंप दी गई थी। फोरेंसिक रिपोर्ट ने इस बात की तस्दीक कर दी थी कि रायगढ़ के जंगल में मिले लाश के अवशेष शीना बोरा के ही थे। इस रिपोर्ट को बनाने से पहले तीन तरह से जंगल में मिली लाश का परिक्षण किया गया था तभी इस बात की पुष्टि गई थी।