देश में 5 राज्यों के विधानसभा चुनाव में पंजाब को छोड़कर बाकी राज्यों में बहुमत से जीत हासिल की है। इसी के साथ अब प्रधानमंत्री मोदी गुजरात में भाजपा के झंडे गाढ़ने की तैयारी में लग गए है। पश्चिम बंगाल में भी उपचुनाव होने वाले हैं जिसके लिए राजनीतिक पार्टियां तैयारी में जुटी हुई है। तृणमूल कांग्रेस के बॉलीवुड के सुपर स्टार और बिहारी बाबू Shatrughan Sinha को आसनसोल लोकसभा उपचुनाव Asansol By-Polls के लिए प्रत्याशी बनाया है।

बिहारी बाबू को उम्मीदवार बनाये जाने के बाद से टीएमसी (TMC) ने आसनसोल में चुनाव प्रचार की तैयारी शुरू कर दी है। शत्रुघ्न सिन्हा ने आसनसोल इलाके विधायक और मंत्री मलय घटक से बात की है और प्राप्त सूचना के अनुसार वह एक-दो दिनों में आसनसोल पहुंच रहे हैं और वह भी चुनाव प्रचार में शामिल होंगे।

ये भी पढ़ें- 22 मार्च को मुख्यमंत्री नेफियू रियो नागालैंड का बजट 2022-23 करेंगे पेश


हालांकि इसके पहले वह टीएमसी की औपचारिक रूप से सदस्यता ग्रहण करेंगे, क्योंकि अभी तक उन्होंने पार्टी की सदस्यता नहीं ली है। बता दें कि आसनसोल लोकसभा केंद्र का उपचुनाव 12 अप्रैल को होने वाला है। 17 मार्च से नामांकन भी शुरू हो जाएगा। चुनाव आयोग के अनुसार आसनसोल लोकसभा और बालीगंज विधानसभा उपचुनाव के लिए 17 मार्च को नोटिफिकेशन जारी किए जाएंगे।
चुनाव आयोग ने बताया नामांकन 24 मार्च तक लिए जाएंगे। 25 मार्च से स्क्रूटनी का कार्य शुरू होगा, जबकि 28 मार्च को नाम वापसी होगी. चुनाव के लिए मतदान 12 अप्रैल को होगा। वहीं वोटों की गिनती 16 अप्रैल को की जाएगी। ममता बनर्जी के साथ मिलकर बीजेपी से मुकाबला करेंगे।


ये भी पढ़ें- 11 समर्थकों की गिरफ्तारी के खिलाफ क्षेत्रगांव के NPP MLA ने सौंपा 'विशेषाधिकार प्रस्ताव के लिए नोटिस'

दो बार राज्यसभा और दो बार लोकसभा सदस्य रह चुके शत्रुघ्न सिन्हा अटल बिहारी सरकार में केंद्रीय मंत्री भी रह चुके हैं। उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी के हाथों में ही देश का भविष्य है। विभाजनकारी ताकतों के खिलाफ वह मजबूती से लड़ रही हैं। मै ‘खेला होबे’ के नारे का पूरे देश में विस्तार करूंगा।  कांग्रेस छोड़ने के सवाल पर कहा कि मैं सांप्रदायिक सौहार्द और जनता के कल्याण के लिए ममता बनर्जी के साथ आया हूं।