दिल्ली में 20 साल की महिला के साथ गैंगरेप (Shahdara Gang Rape) के बाद जूते की माला पहनाकर घूमाने के मामले में पुलिस ने आठ महिलाओं सहित 9 लोगों को गिरफ्तार किया है। इसमें दो नाबालिगों को भी पकड़ा है। इसके अलावा सीसीटीवी फुटेज के आधार पर 15 अन्य लोगों की पहचान की गई है। बता दें कि मामला दिल्ली (Gang Rape in delhi) के शाहदरा इलाके का है, जहां बुधवार को महिला पर कथित हमले के बाद उसका चेहरा काला करने के बाद सडक़ों पर परेड निकालने से पहले उसका मुंडन किया और कपड़े उतार दिए। आरोप यह भी है कि इसी इलाके के एक घर में महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। 

सूत्रों के अनुसार पीडि़ता कुछ साल पहले शादी करने तक उसी इलाके में रहती थी और फिर किसी और इलाके में चली गई थी। सूत्रों ने कहा, वह दो साल के बच्चों की मां है। एक आदमी जो उसके पड़ोस में रहता था और उससे एकतरफा प्यार करता था। उसने कई बार उसके प्रस्ताव को ठुकरा दिया था। पिछले साल इसी शख्स ने ट्रेन के आगे कूदकर कथित तौर पर खुदकुशी कर ली थी। उसके परिवार ने पीडि़त महिला को अपने बेटे की मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया और वह बदला लेना चाहते थे।

पुलिस उपायुक्त (शाहदरा जिला) आर साथिया सुंदरम ने बताया कि पकड़े गए दोनों नाबालिग पीडि़ता का यौन शोषण (Shahdara gang rape) करने में शामिल थे। पुलिस ने महिला के साथ सामूहिक बलात्कार, अपहरण, अवैध रूप से बंधक बनाने और शारीरिक हमले के लिए भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। डीसीपी ने कहा, पीडि़त को हर संभव मदद और परामर्श प्रदान किया गया। हमने मामले को बहुत गंभीरता से लिया। जांच से जुड़े डीसीपी (delhi DCP) ने यह भी पुष्टि की कि अपराध प्रथम दृष्टया कुछ व्यक्तिगत दुश्मनी के कारण लगता है। हालांकि पुलिस तथ्यों और आरोपों की पुष्टि करने की प्रक्रिया में है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने भी भयावह घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त की और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) और उपराज्यपाल अनिल बैजल से दिल्ली पुलिस को सभी आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश देने को कहा। बता दें कि इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) को स्वत: संज्ञान लेने के लिए मजबूर होना पड़ा।