झारखंड, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पश्चिम मध्य प्रदेश, पूर्वी मध्य प्रदेश, विदर्भ, छत्तीसगढ़, गुजरात, कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र, तटीय और दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, केरल, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह और लक्षद्वीप के अधिकतर हिस्सों में पिछले 24 घंटे के दौरान बारिश हुयी। इसके साथ ही नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, ओडिशा, बिहार, पूर्वी राजस्थान, मराठवाड़ा, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु और उत्तर आंतरिक कर्नाटक में कई स्थानों तथा असम, मेघालय, पश्चिम उत्तर प्रदेश, पश्चिम राजस्थान, सौराष्ट्र और कच्छ के कुछ स्थानों पर भी बारिश हुयी। पूर्वी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, रायलसीमा में अलग-अलग स्थानों पर बारिश हुयी या फिर गरज के साथ छींटे पड़े।


अरुणाचल प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में मौसम शुष्क रहा। पंजाब, आंतरिक कर्नाटक, केरल, तटीय आंध्र प्रदेश, कोंकण, गोवा, बिहार, राजस्थान, असम,मेघालय, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर कल 17.30 बजे से सुबह 08.30 बजे तक गरज के साथ बारिश हुयी। दक्षिण-पश्चिम मानसून पश्चिम मध्य प्रदेश, गुजरात, मध्य महाराष्ट्र, तमिलनाडु, आंतरिक कर्नाटक और केरल में अति सक्रिय रहा जबकि उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पूर्वी राजस्थान, पूर्वी मध्य प्रदेश, कोंकण, गोवा, विदर्भ और तटीय कर्नाटक में सक्रिय रहा। अरुणाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब और रायलसीमा में मानसून कमजोर रहा।


अगले 24 घंटे के दौरान गुजरात, केरल, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक,तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, तटीय कर्नाटक, पश्चिम मध्य प्रदेश और पूर्वी राजस्थान के कुछ हिस्सों में तेज से बहुत तेज तथा कहीं-कहीं अतिवृष्टि का अनुमान है। उत्तर आंतरिक कर्नाटक, कोंकण, गोवा, मध्य महाराष्ट्र और पश्चिम राजस्थान में अलग-अलग स्थानों पर तेज से बहुत तेज तथा लक्षद्वीप, विदर्भ, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में अलग-अलग स्थानों पर तेज वर्षा होने के आसार हैं। दक्षिण-पश्चिम, मध्य और उत्तर-पूर्व अरब सागर और इसके साथ-साथ केरल, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र, तटीय गुजरात, लक्षद्वीप क्षेत्र, तटीय तमिलनाडु, तटीय पश्चिम बंगाल-ओडिशा और अंडमान सागर में 40-50 किमी प्रति घंटे की तेज गति से हवा चलने का अनुमान है, इसलिए मछुआरों को अगले 24 घंटों के दौरान इन क्षेत्रों में प्रवेश नहीं करने की सलाह दी गयी है।


केरल के सात जिलों में शनिवार को भी 'रेड अलर्ट' जारी रहेगा। मौसम विभाग ने शुक्रवार को कहा कल राज्य के कन्नूर, कोझिकोड, वायनाड, मालापुरम, पालकाड, इडुक्की और एर्नाकुलम के अधिकतर हिस्सों में भारी से अति भारी बारिश हो सकती है। इसलिए इन जिलों में रेड अलर्ट जारी रहेगा। विभाग ने राज्य के अन्य जिलों कासरगोड, त्रिसूर, कोट्टायम, अलाप्पुझा ओर पतनामतिट्टा के लिए नारंगी (औरेंज) अलर्ट जारी किया है। उल्लेखनीय है कि भारी बारिश की वजह से उत्तर और दक्षिण कन्नड़ जिलों में आम जनजीवन पर काफी असर पड़ा है। नौ लोगों की जानें बाढ़ की वजह से गई है और करीब 48 हजार लोगों को राहत शिविरों तक पहुंचाया गया है। सेना के साथ साथ राष्ट्रीय आपादा मोचन बल और उन्य एजेंसियां लगातार बचाव कार्य में लगी हुई हैं।