शिमलुगुड़ी व मरियानी में चलती ट्रेन में एक युवती व एक महिला की हत्या करने वाले अपराधी क्रमश: विकास दास व विपिन पांडेय को गिरफ्तार करने में असम पुलिस सफल हुई है । सीसी टीवी कैमरे के फुटेज के अाधार पर अपराधी की पहचान की गई और विकास दास को गिरफ्तार किया गया । विकास की स्वीकारोक्ति के आधार पर विपिन पांडेय को गिरफ्तार किया । 

असम पुलिस के महानिदेशक कुलधर सैकिया ने आज शुक्रवार को मीडिया को संबोधित करते हुए इस आशय की  जानकारी दी । उन्होंने कहा कि दोनों के साथ पहले बलात्कार किया गया और गमछे से गले में फंदा डालकर हत्या की गई । सैकिया ने कहा कि इन दोनों अपराधियों ने 2017 में भी ट्रेन में एक महिला की हत्या की थी । 

दूसरी और रेलवे सुरक्षा बल के आईजीपी बीबी मिश्र ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि फिलहाल सवारी ट्रेनों में सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम किया जा चुका है। राज्य में संचालित सवारी ट्रेनों में अतिरिक्त रूप से 3-4 सुरक्षा कंपनियां तैनात की गई है। आईबीपी मिश्र ने कहा कि अतिरिक्त कंपनियों  के बारे में आला पदाधिकारियों को पत्र लिखा जा चुका है ।

उन्होंने कहा कि राज्य में 230 रेलवे स्टेशन है जिनमें गुवाहाटी स्टेशन समेत सिर्फ 12 स्टेशनों में सीसी टीबी कैमरे है । इस अवसर पर पुलिस महानिदेशक सैकिया ने कहा कि दोनों आरोपियों से दो मोबाइल फोन व गहने जब्त किए गए हैं। उन्होंने कहा कि फिलहाल शिवसागर सदर थाने में हत्यारे विपिन पांडेय से पूछताछ  जारी है। कल अदालत में पेश किया जाएगा । 

उन्होंने कहा कि पूछताछ के दौरान विपिन व विकास ने कई सनसनीखेज खुलासे किए हें। पुलिस विकास दास व विपिन पांडेय के खिलाफ 141/18 व 6/18 नबंर के दो केस दर्ज किए हैं ।