वैश्विक स्तर की तेजी और अर्थव्यवस्था के मजबूत रहने की उम्मीद से उत्साहित निवेशकों की लिवाली की बदौलत आज 58 हजार के शिखर पर पहुंचा सेंसेक्स (Sensex) अंतिम समय में हुई बिकवाली के दबाव में पिछले सत्र की तेजी गंवाकर गिरावट के साथ बंद हुआ। 

बीएसई (BSE) का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 90.99 अंक उतरकर 57,806.49 अंक और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) (NSE) का निफ्टी 19.65 अंक की मामूली गिरावट लेकर 17,213.60 अंक पर रहा। हालांकि दिग्गज कंपनियों के विपरीत छोटी और मझौली कंपनियों के प्रति निवेशकों की निवेश धारणा मजबूत रही। इस दौरान बीएसई (BSE) का मिडकैप 0.13 फीसदी चढ़कर 24,684.86 अंक और स्मॉलकैप 0.49 प्रतिशत उछलकर 29,066.03 अंक पर रहा। 

बीएसई (BSE) में कुल 3474 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 2052 में लिवाली हुई जबकि 1326 में बिकवाली का दबाव रहा। वहीं, 96 में कोई बदलाव नहीं हुआ। एनएसई (NSE) में 31 शेयरों के भाव लुढक़ गये जबकि 19 में तेजी दर्ज की गई। वैश्विक बाजार में तेजी का रुख रहा। ब्रिटेन का एफटीएसई 0.04, जर्मनी का डैक्स 0.19, जापान का निक्केई (Japan Nikkei) 0.16 और हांगकांग का हैंगसैंग 0.57 प्रतिशत चढ़ा जबकि चीन के शंघाई कंपोजिट में 0.07 प्रतिशत की मंदी रही। इस दौरान बीएसई के 12 समूहों के शेयर लाल निशान पर रहे। बेसिक मैटेरियल्स 0.40, एफएमसीजी 0.26, वित्त 0.22, आईटी 0.15, यूटिलिटीज 0.64, बैंकिंग 0.43, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स 0.05, धातु 1.01, तेल एवं गैस 0.21, पावर 0.65, रियल्टी 0.07 और टेक समूह के शेयर 0.18 प्रतिशत टूटे वहीं शेष समूहों में 1.71 प्रतिशत तक की तेजी रही।