कर्नाटक पुलिस ने बेंगलुरु में एक व्यक्ति की हत्या (Bangalore Murder) के मामले में एक किशोरी और उसके तीन नाबालिग दोस्तों को हिरासत में लिया है। यह जानकारी पुलिस ने मंगलवार को दी। इस मामले ने तब मोड़ आया जब लड़की ने बताया कि उसने अपने पिता को मारने के लिए अपने दोस्तों की मदद ली थी क्योंकि उसने उसका यौन उत्पीड़न (Bangalore sexual harassment case) किया था। येलहंका न्यूटाउन पुलिस आगे की जांच कर रही है और उनके बयानों की पुष्टि कर रही है।

बदमाशों ने 45 वर्षीय व्यक्ति की सोमवार तड़के उसके आवास में घुसकर हत्या कर दी। इस घटना ने शहर को झकझोर कर रख दिया, क्योंकि दीपक की दो बेटियों के सामने ही हत्या (Bangalore Murder) कर दी गई थी। वह व्यक्ति बिहार का रहने वाला था और बेंगलुरु में जीकेवीके परिसर में सुरक्षा गार्ड (security guard murder) के रूप में काम करता था। वह अपनी पत्नी और दो बेटियों के साथ रहता था। एक बेटी प्राईवेट कॉलेज में पढ़ती है और दूसरी कक्षा 4 में पढ़ती है।

उस व्यक्ति की दो पत्नियां थीं और उसकी पहली पत्नी बिहार में रहती थी। दूसरी पत्नी कलबुर्गी की थी और इस विवाह से उसकी दो बेटियां थीं। पुलिस ने कहा कि वह शख्स कथित तौर पर अपनी पहली बेटी का यौन उत्पीड़न करता था। यह बात उसने अपनी मां को बताई और इस बात को लेकर दोनों के बीच मारपीट भी हुई थी। पुलिस सूत्रों ने कहा कि यह बात छात्रा ने कॉलेज में अपने दोस्तों से शेयर की थी। घटना वाले दिन सोमवार की तड़के मृतक ने फिर से नशे की हालत में उसका यौन उत्पीड़न (Bangalore sexual harassment case) करने का प्रयास किया। लड़की ने अपने दोस्त से फोन पर संपर्क किया और मदद मांगी। उसके दोस्त चार अन्य लोगों के साथ आए और दीपक पर हमला किया और उसे मार डाला। पुलिस दूसरे आरोपित की तलाश कर रही है। आगे की जांच जारी है।