कोरोना काल में इजराइल ने गाजा पट्टी पर हवाई हमले तेज कर दिए है। हमास और इजराइल दोनों शत्रुओं के बीच 2014 के बाद से यह सबसे बड़ी लड़ाई है। इजराइल ने दो बहुमंजिला इमारतों पर हमला किया है। इजराइल का मानना है कि यहां हमास के चरमपंथी थे और उनके ठिकानों में कम से कम तीन चरमपंथियों को मारे गए हैं। बता दें कि फिलस्तीन की ओर से इजराइल में भी लगातार रॉकेट हमले हुए।

हालातों को देखकर लग रहा है कि यह जंग कम होने के कोई संकेत नहीं हैं। इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने हमले तेज करने का आह्वान किया है और दूसरी ओर गाजा के चरमपंथियों ने देर रात तक रॉकेट दाग रहे हैं। बताया जा रहा है कि रॉकेट जहां दागे गए हैं वहां घनी आबादी वाले तेल अवीव इलाके में विस्फोटों हुए हैं। इससे दहशत फैल गई है।


बताया जा रहा है कि इन रॉकेट हमले में इजराइल में तीन महिलाओं की मौत हो गई और दर्जनों लोग घायल हो गए है। दूसरी ओर इजराइय द्वारा किए गए हवाई हमले से गाजा में 10 बच्चों समेत 32 फलस्तीनियों की मौत हो गई है, साथ ही 200 से अधिक लोग घायल हुए हो गए हैं। इजराइल और हमास के बीच यह लड़ाई 2014 की गर्मियों में 50 दिन तक चले युद्ध से ज्यादा भयंकर है।