यूपी के हाथरस कांड के बाद कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी जिले को सील करने और लागू धारा 144 के बाद भी पीड़िता के परिवार से मिलने पहुंच गए। लेकिन पीड़िता के परिवार से मिलने से पहले ही राहुल गांधी को सड़क की धूल खानी पड़ गई। यूपी सरकार ने दिल्ली नोयडा  और हाथरस जिले की सीमाओं को सील कर दिया था। पुलिस को अलर्ट भी किया लेकिन फिर भी राहुल गांधी पहुंच गए और यूपी पुलिस ने यमुना एक्सप्रेस-वे पर उनको गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस की इस हिमाकत के नाराज राहुल ने यूपी पुलिस का जोरदार विरोध किया। पुलिस और राहुल गांधी के बीच काफी झड़प हुई और पुलिस ने राहुल गांधी को धक्का मारा जिससे राहुल सड़क पर गिर गए। इससे गुस्साए राहुल ने कहा कि कानून की किस धारा के तहत उन्हें गिरफ्तार किया गया है। आक्रोशित और गुस्से में लाल राहुल गांधी ने मीडिया के सामने यूपी पुलिस पर भड़क उठे।

सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि राहुल गांधी ने पुलिस वालों से अकेले जाने देने की अपील की थी लेकिन पुलिस नहीं मानी। काफि आग्रह करने के  बाद भी पुलिस नहीं मानी तो और फिर बार बार करने के बाद पुलिस ने राहुल गांधी को धक्का मारा दिया, जिससे वह सड़क पर जा गिरे। उनके हाथ में चोट आई है। राहुल ने मीडिया के सामने कहा कि मैं सरकार से पूछना चाहता हूं कि क्या इस देश में सिर्फ मोदी जी ही घूम सकते हैं? जानकारी के लिए बता दें कि राहुल गांधी के साथ उनकी बहन यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी भी साथ थी।