वैज्ञानिकों के सामने भी हर रोज़ एक नई चुनौती आ जाती है। कोविड से मची तबाही से पूरी दुनिया लड़ रही है। अब वैज्ञानिकों के सामने एक नई चुनौती आई है। यह विपदा आने वाली है जो इंसान के शरीर को फिलहाल सीधे तौर पर तो कोई नुकसान नहीं पहुंचाने वाली मगर वो ऐसी परिस्थियों को जन्म दे सकती है जो हमारे आपके जीवन को प्रभावित करेगी।

वैज्ञानिकों की माने तो कीड़ों की दो नई प्रजातियों का पता चला है तो बेहद घातक है। इन कीड़ों की पहुंच फिलहाल बागीचों तक ही पाई गई है। लेकिन जल्द कोई समाधान नहीं निकाला गया तो इसका असर जल्द ही हमारे किचन तक पहुंच कर हमारी जीवन को प्रभावित कर सकता है। इसके बढने की तादात कितनी तेज़ है इसका अंदाज़ा इस बात से लगाया जा सकता है कि इन कीड़ों का पता चलने के कुछ दिन के भीतर 3 नए देशों में इसे देखा जा चुका है।

इस नई आफत का नाम है फ्लैटवर्म (Flatworm)। जिसकी लंबाई महज़ 3 सेमी। है। लेकिन इसकी सबसे बड़ी प्रजाति की लंबाई करीब 3 फीट तक होने का अनुमान है। फिलहाल अभी इसे फ्लैटवर्म ब्रिटिश बागानों में देखा गया है। मगर वैज्ञानिकों को आशंका है कि अगर ये तेज़ी से फैले तो जैव विवधता के लिए खतरा बन सकते हैं। पौधों के आयात निर्यात के चलते यह वर्म की 10 से ज्यादा प्रजातियां एशिया से दुनिया भर में फैलने लगी है। फ्लैटवर्म की नई प्रजातियां फ्रांस, इटली और अफ्रीका के एक द्वीप पर पाई गई है।

बता दें कि रिसर्चर्स का दावा है कि जैसे-जैसे गर्मी बढ़ेगी वैसे-वैसे इन कीड़ों का प्रकोप भी बढ़ेगा और एक बार में हज़ारों की संख्या में निकल कर पूरी ज़मीन पर फैलने लगेगी। प्रोफेसर जीन-लू जस्टिन के मुताबिक, ये प्रजातियां बेहद खतरनाक और आक्रामक हैं। और जल्द ही ये पूरी दुनिया में फैल कर अपना साम्राज्य स्थापित कर लेगी।