कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए चंडीगढ़ शिक्षा विभाग ने सभी स्‍कूलों को बंद करने का फैसला लिया है। लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है, जिसे देखते हुए यह फैसला लिया गया है। राज्‍य सरकार ने माना कि बच्‍चों को संक्रमण के बढ़ते खतरे से बचाना जरूरी है जिसके लिए ऑफलाइन पढ़ाई को फिलहाल बंद किया जाएगा।

चंडीगढ़ के सभी सरकारी, गर्वनमेंट एडेड और प्राइवेट स्कूलों में 20 दिसंबर से 07 जनवरी 2022 तक छुट्टियों का ऐलान कर दिया गया है। सरकार ने विंटर वेकेशन को रीशेड्यूल कर सोमवार 20 दिसंबर से ही स्‍कूल बंद कर दिए हैं। बता दें कि पहले विंटर वेकेशन 27 दिसंबर से 05 जनवरी तक होने से जिसकी समय सीमा बढ़ा दी गई है।राज्‍य में स्‍कूल 18 अक्‍टूबर से खोले गए थे। सभी क्‍लासेज़ के लिए 2 महीने चलने के बाद अब स्‍कूलों को फिर से बंद किया जा रहा है। महामारी के बाद स्‍कूल पहली बार खोले गए थे। बच्‍चों को माता पिता की मर्जी के साथ ही स्‍कूल आने की अनुमति थी। पढ़ाई ऑनलाइन तथा ऑफलाइन दोनो तरीकों से जारी थी।चंडीगढ़ में पिछले सप्‍ताह पाए गए संक्रमण के 126 नये मामले जुलाई के बाद से सबसे अधिक थे। कोरोना की दूसरी लहर के बाद से यह एक सप्‍ताह में संक्रमण के सबसे अधिक मामले थे। ऐसे में राज्‍य प्रशासन ने संक्रमण के संभावित खतरे को देखते हुए स्‍कूलों पर फिर ताला लगाने का निर्णय लिया है। स्‍कूल अब 07 जनवरी 2022 के बाद ही फिर से खुल सकेंगे।