अगर आप भारतीय स्टेट बैंक के ग्राहक हैं तो आपके लिए बेहद जरूरी खबर है। SBI अगले महीने 1 जुलाई 2021 से सर्विस चार्जेस में बदलाव कर रहा है। इसमें एसबीआई एटीएम (SBI ATM), ब्रांच से पैसे निकालने और चेक बुक जारी करने के शुल्क शामिल हैं। हालांकि, ये बदलाव बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट्स (BSBD) अकाउंट होल्डर्स के लिए हैं। बेसिक सेविंग्स अकाउंट होल्डर्स के लिए SBI के नए संशोधित सर्विस चार्ज, 1 जुलाई 2021 से लागू होंगे।

एसबीआई एटीएम से पहली चार निकासी फ्री रहेगी। बैंक ने फ्री कैश ट्रांजैक्शन की लिमिट 4 कर दी गई है। यानी अब अगर आप State Bank Of India के एटीएम से चार बार से ज्यादा पैसा निकालते हैं, तो आपको एक महीने में प्रति निकासी लेनदेन पर 15 रुपये+ GST देना होगा। यह सर्विस चार्ज सभी एसबीआई और गैर-एसबीआई एटीएम पर लेंगे।

SBI के बेवसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, ATM विड्राल के साथ ही बैंक ने ब्रांच से भी कैश निकालने की सीमा को 4 कर दिया है। यानी पहली चार फ्री निकासी के बाद बैंक ब्रांच से विड्राल पर चार्ज लगेंगे। शाखा/एटीएम पर प्रति नकद निकासी लेनदेन पर नया शुल्क ₹15 प्लस जीएसटी है।

BSBD अकाउंट खुलवाने पर बैंक की तरफ से कस्टमर को 10 चेकबुक पेज फ्री में दिया जाएगा। यह एक वित्त वर्ष की लिमिट है उसके बाद चेकबुक लिए अलग से शुल्क जमा करना होगा। अगर कोई ग्राहक एक वित्त वर्ष में 10 फ्री चेक बुक के अलावा 10 पेज वाला चेकबुक लेता है तो 40 रुपए प्लस जीएसटी लगेंगे। 25 पेज के लिए 75 रुपए प्लस जीएसटी लगेंगे। इमरजेंसी सर्विस के तहत 10 पेज के लिए 50 रुपए प्लस जीएसटी लगेंगे। हालांकि, वरिष्ठ नागरिकों को चेक बुक पर नए सेवा शुल्क से छूट दी गई है।

एसबीआई और गैर-एसबीआई बैंक शाखाओं में बीएसबीडी खाताधारकों द्वारा गैर-वित्तीय लेनदेन पर कोई शुल्क नहीं लगेगा। BSBD खाताधारकों के लिए शाखा और वैकल्पिक चैनलों पर ट्रांसफर लेनदेन भी मुफ्त होगा। एसबीआई बीएसबीडी खाता, जिसे जीरो बैलेंस बचत खाते के रूप में जाना जाता है। यह मुख्य रूप से समाज के गरीब वर्गों के लिए है, ताकि उन्हें बिना किसी शुल्क के बचत शुरू करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। इस खाते पर बैंक नियमित बचत बैंक खातों की तरह ही ब्याज दर प्रदान करता है।