देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने अपने ग्राहकों को अलर्ट किया है कि चार एप से बचकर रहें, वरना खाता खाली हो जाएगा। चार महीने में स्टेट बैंक के 150 ग्राहकों को 70 लाख से ज्यादा की चपत इन एप से लग चुकी है। जालसाज बातों में फंसाकर एप डाउनलोड करा लेते हैं और खाता साफ कर देते हैं। 

बढ़ती घटनाओं को देखते हुए स्टेट बैंक ने अपने खाताधारकों से कहा है कि एनीडेस्क, क्विक सपोर्ट, टीमव्यूअर और मिंगलव्यू एप को भूलकर भी अपने मोबाइल पर इस्टॉल न करें। एसबीआई ने अपने खाताधारकों को यूनीफाइड पेमेंट सिस्टम को लेकर भी सतर्क किया है और कहा है कि किसी भी अज्ञात सोर्स से यूपीआई कलेक्ट रिक्वेस्ट या क्यूआर कोड स्वीकार न करें। 

अज्ञात वेबसाइटों से हेल्पलाइन नंबर खोजने की भूल न करें, क्योंकि आधा दर्जन से ज्यादा फर्जी वेबसाइट एसबीआई के नाम पर चल रही हैं। किसी भी समाधान के लिए आधिकारिक वेबसाइट पर ही जाएं और ठीक से चेक करने के बाद ही अपनी सूचनाएं साझा करें। 

ग्राहकों को बैंक ने सलाह दी है कि प्रत्येक डिजिटल लेनदेन के बाद बैंक एसएमएस भेजता है। अगर आपने लेनदेन नहीं किया है तो तुरंत उस मैसेज को एसएमएस में दिए गए नंबर पर फॉरवर्ड कर दें।

यहां करें रिपोर्ट

कस्टमर केयर नंबर- 1800111109, 9449112211, 080 26599990

155260 (नेशनल साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल)