जो महिलाएं बहुत ज्यााद धूम्रपान करती हैं, उनमें समय से पहले रजोनिवृत्ति यानी मेनोपॉज़ होने का ख़तरा अधिक होता है। खुद के साथ पति को भी इससे रोकें क्योंकि धूम्रपान करने वाले पुरुषों में शुक्राणु की गतिशीलता 13% तक कम हो जाती है जो शुक्राणु को अंडे तक नहीं पहुंचने देती है।

अत्यधिक शराब शुक्राणु की एक्टिविटीज और क्वालिटी को कम कर सकती है, जिससे गर्भधारण की संभावना कम हो सकती है। वहीं महिलाएं गर्भधारण करने की कोशिश करने की सोच रही हैं लेकिन शराब पीती हैं तो यह भ्रूण अल्कोहल सिंड्रोम का कारण भी बन सकता है।

जब आप गर्भवती होने की कोशिश कर रही हों, तो आपको ऐसे खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए, जिससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। जैसे- डेयरी प्रोडक्ट्स, कच्चा मांस, पनीर आदि। ये खाद्य पदार्थ भ्रूण के संक्रमण का कारण बन सकते हैं, जिसके कारण जन्म के समय बच्चे का कम वज़न होना, समय से पहले प्रसव होना और कुछ मामलों में गर्भपात जैसी जटिलताओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए आप पूरी तरह से पका हुआ और ताजा खाना खाएं।

प्रेग्नेंट होने की कोशिश कर रही हैं तो किसी भी तरह का स्ट्रेस न लें इससे सेहत पर बहुत बुरा असर पड़ता है। किसी तरह का तनाव महसूस हो रहा हो तो ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ और दूसरी एक्टिविटीज से उसे दूर करने का प्रयास करें।

फ्रेंच-फ्राईज़, चिकन नगेट्स, बर्गर आदि खाने में मजेदार लगते हैं, लेकिन गर्भवती होने की प्लानिंग के दौरान इन्हें न ही खाएं तो बेहतर। प्रोसेस्ड और जंक फूड आपके शरीर में अधिक सूजन पैदा करता है, जिससे कभी-कभी गर्भधारण की संभावना कम हो जाती है। सेहतमंद आहार लें।