सावन का महीना आज से शुरू हो गया है। इस महीने को भगवान शिव का महीना भी कहा जाता है। आंग्ल मतानुसार, इस बार सावन का महीना 25 जुलाई से 22 अगस्त तक रहेगा। सावन का महीना जल तत्व का महीना है। इस महीने में शुक्र और चन्द्र दोनों ही मजबूत होते हैं। ये दोनों ही ग्रह सरलता से सुख और समृद्धि प्रदान करते हैं। इन दोनों को मजबूत करके आसानी से भाग्य को मजबूत किया जा सकता है। धन और ऐश्वर्य के लिए शुक्र और चन्द्र के साथ शिवजी की उपासना करना बहुत लाभकारी हो सकता है।

धन प्राप्ति के लिए सावन में ये करें
नियमित रूप से शिवलिंग पर जल की धारा अर्पित करें। प्रातः और सायं शिव जी के दरिद्रतानाश मन्त्र का जाप करें। मंत्र है - "ॐ दारिद्रय दुःख दहनाय नमः शिवाय"। रोज यथाशक्ति कुछ न कुछ धन का दान करें।

कर्ज मुक्ति के लिए सावन में ये करें
रोज प्रातः शिव मंदिर जाएं. पहले शिवलिंग पर शहद अर्पित करें। फिर जल की धारा अर्पित करें. इसके बाद एक विशेष मंत्र का जाप करें। मंत्र होगा - "ॐ ऋणमुक्तेश्वराय नमः शिवाय"। मंत्र जप के बाद कर्ज मुक्ति की प्रार्थना करें। ये उपाय सावन के हर मंगलवार को करें।

शीघ्र विवाह के लिए सावन में ये करें
जल अर्पित करें। अपनी उम्र के बराबर बेलपत्र शिव जी को अर्पित करें। "नमः शिवाय" का जप करें। एक दो मुखी या छः मुखी रुद्राक्ष धारण करें। पूरे सावन में सात्विक आहार ग्रहण करें। यह उपाय सावन के हर सोमवार को करें।

भाग्य को मजबूत करने के लिए ये करें
शिवलिंग पर जल, बेलपत्र और सुगंध अर्पित करें। यथाशक्ति "नमः शिवाय" का जाप करें। रोज शिव पुराण का पाठ या अध्ययन जरूर करें। शिवलिंग पर स्पर्श कराकर रुद्राक्ष या रुद्राक्ष की माला धारण करें। शिवजी के प्रति अपनी सम्पूर्ण निष्ठा बनाए रखें। बरसात का पानी एक कांच की बोतल में इकठ्ठा कर लें। इसे अपने शयन कक्ष में रखें। इससे वैवाहिक जीवन अच्छा बना रहेगा।