बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने नागरिकता संसोधन कानून को लेकर देश भर में जारी विरोध प्रदर्शनों को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है। गांगुली ने इससे पहले अपनी बेटी सना की एक पोस्ट के इस बिल के विरोध के तौर पर देखे जाने और वायरल होने के बाद इस विवादित मुद्दे से पल्ला झाड़ते हुए लोगों से अपील की थी कि वह उनकी बेटी को इससे दूर ही रखें।


गांगुली ने इस बिल को लेकर जारी विरोध प्रदर्शन को लेकर पहली बार प्रतिक्रिया देते हुए कहा, 'मेरा संदेश होगा शांति बनाए रखना। मैं इसके राजनीतिक मुद्दों में नहीं जाऊंगा क्योंकि मैंने बिल को पढ़ा नहीं है। मुझे नहीं लगता कि इसे समझने से पहले इस पर टिप्पणी करना उचित है, लेकिन शांति और सौहार्द बनाए रखना जरूरी है। अगर कोई मुद्दा है तो संबंधित लोग उसे सुलझा लेंगे। मेरे लिए सबकी खुशी महत्वपूर्ण है।'

इससे पहले इस हफ्ते की शुरुआत में सना द्वारा इंस्टाग्राम पर खुशवंत सिंह की किताब 'द ऐंड ऑफ इंडिया' का एक अंश पोस्ट किए जाने के बाद उनकी पोस्ट को नागरिकता कानून के विरोध के तौर पर देखा गया था और ये पोस्ट वायरल हो गई थी। लेकिन गांगुली ने इस पोस्ट को लेकर कहा कि ये सच नहीं है और उन्होंने सना को राजनीतिक मुद्दों को समझने के लिए बहुत छोटी बच्ची बताते हुए लोगों से इस मुद्दे से सना को दूर रखने की अपील की थी।