राज्य में सत्तारूढ़ डॉ. मुकुल संगमा सरकार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) ने यहां विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग की गई। अतिरिक्त सचिवालय पार्किंग स्थल पर एकत्रित हुए मोर्चा के नेताओं ने मेघालय सरकार की कड़ी आलोचना की। 

भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष एजेनस्टार कुर्कलांग ने कहा कि राज्य के अधिकांश विभागों में जारी भ्रष्टाचार से जनता को नुकसान हो रहा है। उन्होंने भ्रष्टाचार को सरकारी संरक्षण का आरोप लगाते हुए संगमा को भी इसमें संलिप्त बताया। भाजयुमो का कहना है कि भ्रष्टाचार की वजह से राज्य का बड़ा नुकसान हो रहा है। आम जनता को उनका हक नहीं मिल रहा है और बिजली, शिक्षा व लोकनिर्माण जैसे विभागों में भ्रष्टाचार ने जड़ें जमा ली हैं। जर्जर सड़कों की मरम्मत नहीं हो रही है, लेकिन इनके नाम पर करोड़ों की लूट मची हुई है। 

कुर्कलांग ने आरोप लगाया कि मेघालय इलेक्ट्रिक एनर्जी कॉर्पोरेशन पर सरकार का सात करोड़ रुपए बकाया है। इससे उपभोक्ताओं को बिजली की लोडशेडिंग झेलनी पड़ रही है। साथ ही कहा है कि साल 2017 से अब तक छात्रों को छात्रवृत्ति नहीं दी गई है और हाईकोर्ट के निर्देश के बावजूद राज्य के सरकार के 900 विभिन्न पद अभी तक भरे नहीं जा सके हैं।  उन्होंने कहा कि अगली भाजपा सरकार आती है तो भ्रष्टाचार को जड़ से खत्म कर दिया जाएगा। इस प्रदर्शन में शिलोंग सहित जिले के विभिन्न मंडलों से कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।