भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने समाजवादी पार्टी (SP) पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया है कि सपा ने हमेशा अपराधियों और दंगाइयों को संरक्षण दिया है और उसके नेता अपराधियों पर लगे मुकदमों को हटाने का आश्वासन देते हैं। शनिवार को यहाँ केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Union Minister Anurag Thakur) ने एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी सोच'मुंह में राम, बगल में आतंकवादी' वाली है। 

सपा भारत की पहली पार्टी है जिसने 2012 में अपने घोषणा पत्र में कहा था कि अगर उनकी सरकार आती है तो वह मुस्लिम युवाओं पर लगे आतंकवाद के आरोपों को हटा देंगे और उन्हें रिहा कर देंगे। उन्होंने कहा, 'सरकार बनने के बाद सपा ने अयोध्या और काशी में आतंकवादी हमला करने वाले आतंकवादियों के खिलाफ सारे मुकदमे वापस ले लिए थे। इसके अलावा लखनऊ, रामपुर समेत अन्य जिलों में हुए आतंकवादी हमलों के आरोपियों को भी इन्होंने बचाया था। ये समाजवादी नहीं समाज विरोधी हैं।' 

ठाकुर ने कहा कि जब भी आतंकवाद की बात आती है तो भाजपा 'जीरो टॉलरेंस' रखती है। जबकि समाजवादी पार्टी सहयोगवाद का रुख रखती है। उन्होंने आरोप लगाया कि अहमदाबाद धमाकों के दोषियों के तार सीधे सपा नेताओं से जड़े हैं। न्यायालय के दोषियों को सजा देने के आदेश के बाद भी सपा नेताओं और पार्टी की तरफ से कोई बयान नहीं आया है। केंद्रीय मंत्री ने आगे आरोप लगाया कि सपा ने आजमगढ़ को आतंकियों का गढ़ बना दिया था। तुष्टिकरण की राजनीति के कारण सपा सरकार में आतंकियों को संरक्षण मिलता था। 

उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime minister Narendra modi) और उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व की सरकार ने आतंकवाद और माफिंयावाद की कमर तोडऩे का काम किया है।