पुणे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने रविवार को कहा कि विश्व भर में भारत के बढ़ते प्रभाव के कारण ही युद्धग्रस्त यूक्रेन से हजारों छात्रों को सुरक्षित स्वदेश लाया गया है। मोदी ने यहां सिम्बायोसिस विश्वविद्यालय के स्वर्ण जयंती समारोह को संबोधित करते हुए कहा, 'ऑपरेशन गंगा' अभियान चलाकर हम अपने छात्रों को यूक्रेन से वापस ला रहे हैं। 

विश्व भर में भारत के बढ़ते प्रभाव के कारण ही हम अपने देश के हजारों छात्रों को यहां वापस लाये हैं। वहीं दुनिया के अन्य बड़े देशों को ऐसा करने में बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।' उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार युवाओं की ताकत में विश्वास करती है। इसलिए, हम कई सेक्टर खोल रहे हैं , ताकि वे इस अवसर का अधिक से अधिक लाभ उठा सकें।'

यह भी पढ़ें- स्टेडियम के समीप 'बम है अंदर' लिखा पैकेट देखकर मची अफरा-तफरी, जानिए पूरा मामला

उन्होंने युवाओं से आह्वान किया, 'आप जिस भी क्षेत्र में हों, अपने करियर के लिए जिस तरह से लक्ष्य निर्धारित करते हैं, उसी तरह देश के लिए भी आपके कुछ लक्ष्य होने चाहिए।' उन्होंने आगे कहा, 'स्टार्टअप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया, मेक इन इंडिया और आत्म निर्भर भारत जैसे मिशन आपकी आकांक्षाओं का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। आज का भारत पूरी दुनिया में नवाचार और सुधार कर रहा है तथा अपना प्रभाव डाल रहा है।'

उन्होंने यह भी कहा कि भारत उन क्षेत्रों में वैश्विक नेता के रूप में उभरा है जिन्हें पहले पहुंच से बाहर माना जाता था। उन्होंने कहा कि भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा मोबाइल निर्माता बन गया है। सात साल पहले भारत में केवल दो मोबाइल निर्माण कंपनियां थीं जबकि आज 200 से अधिक विनिर्माण इकाइयां इस काम में लगी हुई हैं।

यह भी पढ़ें- विश्व चैंपियनशिप और एशियाई खेलों में नहीं उतरेंगी मैरीकॉम, जानिए क्या है वजह

प्रधानमंत्री ने कहा कि रक्षा क्षेत्र में भारत को दुनिया के सबसे बड़े आयातक देश के रूप में पहचाना जाता था, वहीं अब एक रक्षा निर्यातक बन रहा है। उन्होंने कहा, 'आज दो बड़े रक्षा गलियारे बन रहे हैं, जहां देश की रक्षा जरूरतों को पूरा करने के लिए वृहद आधुनिक हथियार बनाये जायेंगे।'