मास्को-कीव। रूस (Russia) ने यूक्रेन में युद्धग्रस्त क्षेत्र (war-torn territory of Ukraine) के मारियुपॉल और वोल्नोवाखा से लोगों को सुरक्षित गलियारा देकर बाहर निकालने के लिए शनिवार सुबह 10 बजे से युद्धविराम की घोषणा की। इनके साथ ही अन्य शहरों से भी लोगों को सुरक्षित गलियारा देने की शुरूआत की जायेगी। रूसी रक्षा मंत्रालय (Russian Defense Ministry) ने यूक्रेन के साथ समन्वय से सुरक्षित गलियारा दिये जाने की बात कही है। यूक्रेन ने इस युद्धविराम की पुष्टि की है। 

यह भी पढ़ें- धांसू तरीके से मनेगी आपकी होली पार्टी! Flipkart से सस्ते में खरीदें ये गजब ब्लूटूथ Speakers

यूक्रेनी राष्ट्रपति कार्यालय ने मुख्य सलाहाकार मायखाइलो पोडोलियाक ने कहा कि कीव में पांच मार्च को स्थानीय समयानुसार सुबह नौ बजे से शांति हो जायेगी। उन्होंने कहा कि अन्य शहरों में भी नागरिकों के लिए महफूज गलियारों की शुरूआत की जाएगी। पोडोलियाक ने कहा, 'हां हमने युद्धविराम की पुष्टि की है। जहां तक शहरों की संख्या का सवाल है तो यह अभी शुरुआत है। एक प्रणाली पर कार्य किया जा रहा है, जिसके बाद अन्य शहरों और गांवों में लोगों को निकालने के लिए सूची में शामिल किया जाएगा।'

रूसी रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया, 'रूस की ओर से पांच मार्च को स्थानीय समयानुसार सुबह 10 बजे से युद्धविराम की घोषणा की है और नागरिकों के लिए मारियूपॉल एवं वोल्नोवाखा से निकलने के लिए एक महफूज गलियारे का निर्माण किया है।' यूक्रेनी राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की के कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि यूक्रेन और उसकी सेना पहले से ही मानवीय मदद के लिए सहमत थी और वह नागरिकों के लिए सुरक्षित गलियारे की गारंटी देते हैं। 

यह भी पढ़ें- रूस और बेलारूस को भारी पड़ा यूक्रेन पर हमला करना, अब इस संगठन ने दिया बड़ा झटका, जानिए कैसे

यूक्रेन ने रेडक्रॉस से जल्द से जल्द सुरक्षित मानवीय गलियारा बनाने की अपील की है। रूस और यूक्रेन के बीच तीन मार्च को हुई दूसरे दौर की बातचीत बेलारूस में हुई। रूसी दल के प्रमुख व्लादिमिर मेडेंस्की ने कहा कि दोनों ही पक्षों के बीच सैन्य और अंतरराष्ट्रीय मानवीय मुद्दों के साथ वर्तमान स्थिति के राजनीतिक समाधान जैसे मुद्दों पर विस्तार से चर्चा हुई। चर्चा के दौरान कई मुद्दों पर आम राय बनी जिसमें नागरिकों के लिए मानवीय गलियारा बनाना भी शामिल है। रूसी राष्ट्रपति के प्रेस सचिव दिमित्री पेस्कोव ने कहा कि मानवीय मुद्दों पर दोनों पक्षों के बीच बनी सहमित बेहद महत्वपूर्ण है।