देश के लिए अपनी जान कुर्बान करने वाले शहीद के अंतिम विदाई में जहां पूरा देश का माहौल गमगीन है वहीं अब उसकी शाहदत को सदा के लिए अमर करने के लिए गोयला खुर्द की पंचायत ने फैसला किया है कि गांव के राजकीय स्कूल का नाम शहीद सचिन शर्मा के नाम पर रखा जाएगा।

इसके साथ ही शहीद सचिन के नाम पर गांव में लाइब्रेरी भी बनाई जाएगी। सचिन की जहां पर अंत्येष्टि की गई है उस जगह समाधि बनाकर प्रतिमा स्थापित की जाएगी। गांव की महिला सरपंच पूनम ने शुक्रवार को बताया कि पंचायत गोयला खुर्द ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर दिया है।

जल्दी ही प्रस्ताव को प्रदेश सरकार को भेजा जाएगा। इधर, समालखा से विधायक रविंद्र मछरौली ने शुक्रवार को बताया कि शहीद सचिन के नाम पर गांव के राजकीय स्कूल का नामकरण, समाधि व प्रतिमा और पुस्तकालय के निर्माण के लिए वे और ग्राम पंचायत गोयला खुर्द जल्द ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मिलेंगे।

गौरतलब है कि मंगलवार को राजपूत रेजिमेंट की 16वीं बटालियन का 20 वर्षीय सचिन अरुणाचल प्र‎देश में शनिवार को नक्सली हमले में गंभीर रूप से घायल हुआ था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां मंगलवार सुबह सचिन ने आखिरी सांस ली। बुधवार शाम 6 बजकर 20 मिनट पर सेना उनके पार्थिव शरीर को फ्लाइट से दिल्ली मुख्यालय लेकर आई। गुरुवार को सैन्य सम्मान के साथ सचिन की गांव गोयला खुर्द में यमुना नदी किनारे अंत्येष्टि की गई थी।  गांव में भी माहाैल गमगीन है।