रूस द्वारा परमाणु हमला करने की खबर के चलते यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमीर जेलेंस्की की धड़कनें तेज हो गई हैं। इसके चलते दोहा फोरम में उन्होंने एक बार रूस से युद्ध रोकने की अपील करते हुए बातचीत करने का आग्रह किया है। जेलेंस्की ने यह भी कहा कि रूस हथियारों की दौड़ लगातार बढ़ा रहा है। 

यह भी पढ़ें : प्रीतम छेत्री बने सिक्किम के पहले छात्रवृत्ति पुरस्कार पाने वाले युवा म्यूजिशियन

आज यूक्रेन और रूसी सैनिकों के बीच जंग शुरू हुए आज 31वां दिन हो गया है। रूसी सैनिक यूक्रेन के लगभग हर शहर में बमों की वर्षा कर रहे हैं। यूक्रेन के दूसरा सबसे बड़ा शहर मारियूपोल रूसी बमबारी का सबसे ज्यादा शिकार है। बीते रोज मारियूपोल के एक थियेटर में रूसी हवाई हमले में 300 लोगों की मौत हो गई। इस थियेटर में सैकड़ों लोगों ने शरण ले रखी थी।

अब दोहा फोरम में यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमीर जेलेंस्की ने रूस के समक्ष बातचीत का फिर से प्रस्ताव रखा है। अपने बयान में उन्होंने कहा कि युद्ध रोकने के लिए रूस को हमसे बातचीत करनी चाहिए। साथ रूस पर यह आरोप लगाया कि हथियारों की दौड़ में रूस लगातार आगे बढ़ रहा है।

यह भी पढ़ें : इस राज्य में नहीं चलती सिक्किम के विश्व विद्यालय से प्राप्त की डिग्री, हाईकोर्ट ने माना अयोग्य

खबर है कि पुतिन ने अपने परमाणु बलों को विशेष अलर्ट पर रखने के कुछ घंटों बाद न्यूक्लियर पनडुब्बियां समंदर में उतार दी हैं। इससे न्यूक्लियर वॉर की आशंका भी बढ़ गई है। गौरतलब है कि रूस ने 3 मार्च से अपने न्यूक्लियर हथियारों को हाई अलर्ट पर रखा है। रूस काफी समय से नाटो देशों को धमकी दे चुका है कि अगर उसके अस्तित्व पर खतरा हुआ तो वह न्यूक्लियर अटैक से भी पीछे नहीं हटेगा। 

हालांकि इससे पहले रूस ने हाइपरसोनिक मिसाइलों का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया है। यूक्रेन के दो शहरों में हाइपरसोनिक मिसाइलों का हमला भी हो चुका है। यूक्रेन ने रूस पर फास्फोरस बमों के इस्तेमाल का भी आरोप लगाया है।