अब लगभग यह तय हो गया है कि रूस और यूक्रेन के बीच महायुद्ध शुरू हो गया है। रूस ने दावा किया है कि यूक्रेन की बमबारी में उसकी सीमा चौकी को उड़ा दिया गया है। इससे पहले यूक्रेन ने भी कई बार दावा किया है कि रूसी समर्थित अलगाववादियों ने उसके लोगों पर गोलीबारी की है। लेकिन, रूस की तरफ से यह पहली बार कहा गया है कि यूक्रेन की बमबारी में रूस की संघीय सुरक्षा सेवा द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली सीमा चौकी को नेस्तनाबूद किया गया है।

यह भी पढ़ें : लाखों दिलों पर राज करती है असम की ये एक्ट्रेस, ऐसे मनाया अपनी मां का बर्थडे


अब पश्चिमी देशों को डर है कि हाल के हफ्तों में यूक्रेन की सीमा के पास रूसी सैनिकों का जमावड़ा एक आक्रमण का संकेत है। इन देशों का कहना है कि अगर ऐसा हुआ तो वे मास्को के खिलाफ "बड़े पैमाने पर" प्रतिबंध लगाएं जाएंगे। हालांकि रूस आक्रमण की किसी भी योजना से इनकार करता है लेकिन व्यापक सुरक्षा गारंटी चाहता है।

रूसी समाचार एजेंसियों के अनुसार सिक्योरिटी सर्विस ने दिए एक बयान में कहा, "21 फरवरी को, सुबह 9:50 बजे (0650 GMT), यूक्रेन से दागे गए एक अज्ञात प्रक्षेप्य ने रूसी-यूक्रेनी सीमा से लगभग 150 मीटर की दूरी पर रोस्तोव क्षेत्र में FSB सीमा रक्षक सेवा द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली सीमा चौकी को पूरी तरह से नष्ट कर दिया।"

यह भी पढ़ें : बेहद खूबसूरत हैं अ​सम की एक्ट्रेस Barsha Rani Bishaya, तस्वीरें देख आ जाएगा दिल

यूक्रेन पर रूसी हमले की आशंका और यूक्रेन की सीमाओं के आसपास रूस की सेना के बड़े पैमाने पर जमावड़े को लेकर मास्को और पश्चिम के बीच तनाव हफ्तों से बढ़ रहा है। पश्चिमी खुफिया एजेंसियों का दावा है कि करीब 1.6 लाख रूसी सैनिक यूक्रेन पर हमला करने के लिए तैयार हैं। ऐसे में यदि रूस यूक्रेन पर हमला करता है तो उसका बचना नामुमकिन है।