कीव। यूक्रेनी सैनिकों ने गुरुवार को रूसी सैनिकों द्वारा छोड़े गए रेड फॉरेस्ट का एक वीडियो को जारी करने का दावा किया है। जिसमें रूसी सेना ने चेर्नोबिल के पास अत्यधिक रेडियोधर्मी ऑफ-लिमिट क्षेत्र में खाई खोदी है। यह वीडियो यूक्रेन के अधिकारियों ने ड्रोन के जरिए शूट किया है। बिजनेस इनसाइडर के अनुसार रेड फॉरेस्ट इलाके में रूसी सैनिकों का खाई खोदने का वीडियो जारी हुआ है जो साल 1986 में चेर्नोबिल परमाणु आपदा की याद दिलाता है। 

यह भी पढ़े : Mangal Rashi Parivartan : मंगल का राशि परिवर्तन आज, इन राशि वालों को शुभ फल की प्राप्ति होगी

रेड फ़ॉरेस्ट को इसका नाम तब मिला जब 1986 में दुनिया की सबसे भीषण परमाणु आपदा चेर्नोबिल न्यूक्लियर प्लांट में हुई। फिर यहां विस्फोट से विकिरण को अवशोषित करने के बाद कई वर्ग किलोमीटर में लगे देवदार के पेड़ लाल हो गए थे। यह वीडियो यूक्रेनी सेना द्वारा बनाया गया था और यूक्रेन के परमाणु ऊर्जा संयंत्रों के स्वामित्व वाले ऑपरेटर एनरगोटॉम द्वारा टेलीग्राम पर जारी किया गया था। बहरहाल यूक्रेनी सेना ने इस वीडियो को साक्ष्य के तौर पर पेश किया है। 

यह भी पढ़े :Today's Petrol Diesel Price : आज ईंधन की तेजी में ब्रेक, 123.46 रुपये लीटर तक पंहुचा, चेक करें अपने शहर का रेट

उन्होंने बताया कि रूसी कमांडरों ने अपने सैनिकों को मार्च 2022 में रेडियोधर्मी रेड फॉरेस्ट में चेर्नोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र के पास का क्षेत्र रेड फॉरेस्ट में खुदाई करने का आदेश दिया था। एनरगोटॉम के अनुसार जब रूसी सेना इस इलाके मे युद्ध की तैयारियों के लिए खुदाई कर रहे थे उस वक्त वे सभी रेडियशन का शिकार हुए थे और 24 फरवरी 2022 को चेर्नोबिल प्रतिबंधित क्षेत्र पर हमला करने के पांच सप्ताह बाद रूसी सैनिकों ने यह इलाका छोड़ दिया था। इस बीच अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने कहा कि वह यूक्रेनी सेना द्वारा किए गए दावों की जांच कर रही हैं।