एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया कि रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सैनिक अब यूक्रेन के युद्ध क्षेत्र में रसद यानी राशन की किल्लत होने पर चिड़ियाघर के जानवरों को मारकर खा रहे हैं। इस दावे की पुष्टि करने के नाम पर अब कुछ तस्वीरें भी शेयर की जा रही हैं, जिनके हवाले से पुतिन के फौजियों को दरिंदा बताया जा रहा है।

ये भी पढ़ेंः अमरीका से मिले 1100 फीनिक्स घोस्ट ड्रोन के दम पर रूस में तबाही मचाने जा रहा है यूक्रेन, जानें पूरा प्लान


एक रिपोर्ट के मुताबिक रूस के सैनिक यूक्रेन में अपने कब्जे वाले इलाके के चिड़ियाघर में बंद जानवरों को अपना निवाला बना रहे हैं। इन जानवरों में ऊंट, कंगारू, सूअर और भेड़िये जैसे कई और जानवरों को मारकर खाने की बात कही गई है। इसी रिपोर्ट में कई जानवरों के कंकाल और अन्य अवशेष बरामद होने की पुष्टि की गई है। हालांकि इस जघन्य अपराध को लेकर अभी तक रूस की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

ये भी पढ़ेंः गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा को लगा बड़ा झटका, इस दिग्गज नेता ने दिया इस्तीफा


पूर्वी डोनेट्स्क में यम्पिल चिड़ियाघर के वालंटियर्स ने यह दावा किया है। यूक्रेन पर हमले के शुरुआती दिनों में रूस ने यम्पिल गांव पर कब्जा कर लिया था, लेकिन 30 सितंबर को यूक्रेन ने वापस इस पर कब्जा हासिल कर लिया। अब अपने मोहल्ले में लौट रहे यूक्रेन के आम नागरिकों को बेहद चौंकाने वाले और हैरान-परेशान करने वाली तस्वीरें देखने को मिल रही हैं। एक वालंटियर ने अपने कैमरे में चिड़ियाघर के मैदान में कंकाल और मांस के टुकड़े बिखरे होने की तस्वीरों को कैद किया है। इस खबर के सामने आने के बाद एनिमल एक्टिव्स्ट भी रूस को आड़े हाथों ले रहे हैं। यूक्रेन के अधिकारियों का कहना है कि ये खबर सच है कि रूसी सैनिकों ने हमारे कई जानवरों को मारकर खा लिया है। उनकी लिस्ट और मिले सबूतों के मुताबिक अभी तक दो ऊंट, एक कंगारू, एक जंगली भैंसा, कुछ सुअर और कई भेड़ियों को शिकार बनाया गया है। जू में बचे बाकी जानवरों को दोबारा बसाने के लिए निप्रो सिटी ले जाया जा रहा है।