रूस ने कोरोना वायरस की दवाई बनाने का दावा किया है जिसको सही साबित करने के लिए राष्ट्रपति पुतिन ने अपनी बेटी को इसका डोज देने की बात कही है। इसी के साथ ही व्लादिमीर पुतिन ने दुनिया को कोरोना वायरस की पहली वैक्सीन देने का ऐलान किया है। उन्होंने यह भी बताया कि उनकी एक बेटी को वैक्सीन दी भी गई है। उनके इस दावे पर पूरी दुनिया हैरान रह गई। सिर्फ इसलिए नहीं कि उन्होंने अपनी बेटी पर वैक्सीन का टेस्ट कर डाला, बल्कि इसलिए भी क्योंकि पुतिन अपने परिवार को हमेशा स्पॉटलाइट से दूर रखते हैं और उनके बच्चों के बारे में ज्यादा जानकारी दुनिया को नहीं है।
पुतिन सार्वजनिक तौर पर न अपने परिवार के बारे में चर्चा करते हैं और न बेटियों का जिक्र करते हैं। इसलिए जब उन्होंने वैक्सीन को लेकर ऐलान किया तो सब हैरान रह गए। हालांकि, पुतिन ने यह नहीं बताया है कि उनकी कौन सी बेटी को वैक्सीन दी गई है। पुतिन की शादी ल्यूडमीला पुतिना से 30 साल तक चली और 2013 में दोनों अलग हो गए। उनसे पुतिन की दो बेटियां, मारिया और कतरीना हुईं जो अब 30 के पार हैं।
यह भी खबर है कि जब उनका परिवार मॉस्को में था तब 1996 में वे जर्मन भाषी स्कूल में जाती थीं। बाद में पुतिन के कार्यकारी राष्ट्रपति बनने के बाद उन्हें स्कूल से निकाल लिया गया और घर पर पढ़ाई जारी रही। मारिया ने कॉलेज में बायॉलजी पढ़ी है और कतरीना ने एशियन स्टडीज। दोनों को यूनिवर्सिटी में दाखिला फर्जी पहचान पर दिया गया था। ल्यूडमिला ने एक बार बताया था, 'सब पिता अपने बच्चों से वैसे प्यार नहीं करते जैसे वह करते हैं। और वह हमेशा उन्हें बिगाड़ते हैं और मैं उन्हें अनुशासन में रखती हूं।'
मेडिकल रिसर्चर मारिया मॉस्को में डच पति जॉरिट फासेन के साथ रहती हैं और उनका एक बच्चा भी है। वहीं, कतरीना हाई-हाई लाइफस्टाइल फॉलो करती हैं। वह एक ऐक्रोबैट डांसर हैं और मॉस्को स्टेट यूनिवर्सिटी में बड़े पद पर हैं। वह एक 1.7 अरब डॉलर के स्टार्टअप को चला रही हैं। उन्होंने 2017 में रूस के अरबपति किली शैमलॉव से शादी की थी लेकिन दोनों का इस साल तलाक हो गया।
यही नहीं, कहा जाता है कि पूर्व गर्लफ्रेंड और जिमनास्ट अलीना कबीवा के साथ पुतिन की एक और बेटी है। हालांकि, यह कभी साफ नहीं हुआ है। कई खबरों में यह भी दावा किया जाता है कि पुतिन के दो बेटे भी हैं।
पुतिन ने कहा कि इस वैक्सीन के ट्रायल के दौरान उनकी एक बेटी ने भी हिस्सा लिया। पहले चरण के वैक्सीनेशन के बाद उसके शरीर का तापमान 38 डिग्री सेल्सियस था, जबकि अगले दिन यह 37 डिग्री सेल्सियस हो गया था। वैक्सीन ने दूसरे चरण के बाद उसके शरीर का तापमान थोड़ा बढ़ा लेकिन बाद मे सब ठीक हो गया। वह अब अच्छा महसूस कर रही है।