रूस के हमले के बाद यूक्रेन में बमबारी से बचने के लिए लोग शहरों में छिपे हुए हैं। रूसी सेनाएं जैसे-जैसे शहर में कब्जा करती जा रही है वैसे-वैसे उनकी ज्यादती भी बढ़ रही हैं। मारियुपोल पुलिस अधिकारी माइकल वर्शनिन के मुताबिक शहर में बच्चे और बुजुर्ग मर रहे हैं। शहर नष्ट हो गया है और इसे पृथ्वी के नक्शे से मिटा दिया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, डोनेट्स्क सैन्य-नागरिक प्रशासन के प्रमुख पाव्लो क्यारिलेंको ने कहा कि हजारों मारियुपोल निवासी कब्जे वाले मानहुशी और मेलेकिन में भूख से मर रहे हैं। रूसी सेनाओं ने उन्हें भोजन, पानी और सुरक्षित मार्ग मुहैया करने से मना कर दिया है।

यह भी पढ़ें : सिक्किम में चला प्लास्टिक के खिलाफ सख्त अभियान, लोगों की पहली पसंद बनी बांस की बोतल

मारियुपोल नगर परिषद के मुताबिक रूसी सैनिकों ने कई हजार लोगों को रूस की सीमा में जाने के लिए मजबूर किया है। परिषद ने अपने बयान में कहा कि कब्जे वाले लोगों को यूक्रेन छोड़कर रूसी क्षेत्र में जाने के लिए मजबूर किया जा रहा है। कब्जा करने वालों ने अवैध रूप से लेवोबेरेज्नी जिले से लोगों को बाहर निकाला और एक स्पोर्ट्स क्लब की इमारत में शेल्डर बनाया है। ये वो लोग हैं, जो बमबारी से बचने के लिए छिपे हुए थे। शेल्डर में लोगों की हालत काफी खराब है। इन्हें भोजन-पानी जैसे मूलभूत चीजें भी नहीं मिल रही हैं। 

दक्षिण-पूर्वी शहर मारियुपोल में हाल ही में रूस और यूक्रेन की सेनाओं के बीच विशाल इस्पात संयंत्र पर कब्जा करने के लिए संघर्ष हुआ। यूक्रेन की प्रमुख औद्योगिक संस्थानों में से एक मारियुपोल स्थित अजोव स्टील प्लांट पर कब्जा को लेकर परस्पर विरोधी रिपोर्टें आ रही हैं। अजोव बटालियन के सदस्य व्लादस्लिाव सोबोलिवेस्की ने यूक्रेनी टेलीविजन को बताया, दुश्मन शहर में इतनी दूर नहीं पहुंचा है। यूक्रेनी नौसेना, आजोव बटालियन व पुलिस शहर और उसके नागरिकों की रक्षा कर रही है। उन्होंने कहा कि अजोव स्टील प्लांट हमारे नियंत्रण में है। प्लांट सहित पूरे शहर में हवाई हमले हुए, लेकिन दुश्मन हमारे प्लांट पर हाथ नहीं डाल पाए।

यह भी पढ़ें : अरूणाचल की बेटियों ने किया नाम रोशन, राष्ट्रीय राफ्टिंग चैंपियनशिप में जीता सिल्वर

एक रिपोर्ट के अनुसार विशाल स्टीलवर्क्स मारियुपोल शहर के मध्य के तुरंत बाद पूर्व में स्थित है। रूस के सुरक्षा बलों का इस संस्थान कब्जा होना यूक्रेनी प्रयासों के लिए एक बड़ा झटका होगा। इस बीच, यूक्रेन के राष्ट्रपति के सलाहकार ओलेक्सी एरेस्टोविच ने कहा है कि यूक्रेनी सेना की स्थिति में पिछले 24 घंटों में अग्रिम पंक्ति के क्षेत्रों में कोई महत्वपूर्ण बदलाव नहीं हुआ है।