रूस के एक बॉडी बिल्डर और पूर्व सैनिक पर हल्क जैसी बॉडी बनाने की ऐसी सनक चढ़ी की अब उसकी जान पर बन आई। इस शख्स के अब हालात ऐसे हो गए हैं कि उसकी जान खतरे में है। 25 वर्षीय किरिल टेरेशिन नाम के इस शख्स ने एक्सरसाइज कर बॉडी बनाने की जगह पेट्रोल जेली के इंजेक्शन लगाकर बॉडी बनाने का शॉर्टकट तरीका अपना लिया। लेकिन अब मामला गंभीर हो गया है।
बॉडी बनाने के लिए किरिल टेरेशिन ने अपने हाथों में पेट्रोल जेली के इंजेक्शन लगवा लिए। वह पहले अपने बाइसेप्स पर इसका असर देखना चाहता था। लेकिन धीरे-धीरे उसने 6 लीटर पेट्रोलियम जेली अपने हाथों में इंजेक्ट करवा ली। इसकी वजह से किरिल के बाजू (बाइसेप्स) 24 इंच के हो गए।

लेकिन अब उसके हाथों की हालत खराब होने लगी है। हालात इतने बिगड़े कि उसे अस्पताल ले जाना पड़ा, जहां किरिल की सर्जरी हुई। इस दौरान उसके हाथों से सिंथोल ऑयल और डेड मसल्स टिशूज निकाले गए थे। एक और सर्जरी में उसके 'नकली बाइसेप्स' बाहर करने की तैयारी है। हालांकि, अभी भी उसे राहत नहीं मिली।

बाइसेप्स सर्जरी के बाद उसे कई और सर्जरी का सामना करना पड़ रहा है। बॉडी बनाने वाले इंजेक्शन ने उसके शरीर में रक्त के प्रवाह को अवरुद्ध कर दिया। उसे तेज बुखार और दर्द रहने लगा। सर्जन दिमित्री मेलनिकोव ने दो टूक चेतावनी दी, 'इस मामले में जटिलताओं का खतरा बहुत अधिक है, लेकिन निष्क्रियता रोगी की मदद नहीं करेगी. शरीर में एक जहरीला पदार्थ लंबे समय तक गुर्दे को जटिल बना सकता है और मौत का कारण बन सकता है।'

डॉक्टर्स का कहना है कि किरिल की जान बचाने के लिए उसके हाथ को काटना पड़ सकता है। वहीं किरिल ने कहा कि उसे अब अपनी गलती का अहसास हो रहा है। उसे बॉडी बनाने के लिए शार्टकट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए था। उसे अफ़सोस है कि उसने इंजेक्शन से ऐसी बॉडी बनाई।