अब यूक्रेन के बचने की संभावना कम है क्योंकि रूस की सेना 64 किलोमीटर लंबे सैन्य काफिले के साथ खतरनाक प्रहार करने जा रही है। इस खुलासा ताजा उपग्रह चित्रों से हुआ है। इस काफिले को यूक्रेन की राजधानी कीव की ओर बढ़ते हुए देखा गया है। अमेरिकी प्रौद्योगिकी फर्म मैक्सार टेक्नोलॉजीज की उपग्रह तस्वीरों से पता चला है कि रूसी सैन्य काफिला कीव के उत्तर से आगे बढ़ रहा है। यह पहले बताए गए आंकड़े (27 किमी) की तुलना में काफी लंबा है। इस विशाल काफिले में बख्तरबंद वाहन, टैंक, तोपखाने और सहायक वाहन शामिल हैं। यह खतरनाक काफिला कीव के केंद्र से सिर्फ 25 किलोमीटर दूर था।

यह भी पढ़ें : अरुणाचल में है दुनिया का सबसे ऊंचा प्राकृतिक शिवलिंग, आकार देखकर दंग रह जाते हैं लोग

मैक्सार की तस्वीरों ने दक्षिणी बेलारूस में सैनिकों और हेलीकॉप्टर यूनिट की तैनाती को भी दिखाया है, जो कीव के उत्तर में है। द इंडिपेंडेंट के अनुसार, काफिला कीव के बाहरी इलाके में एंटोनोव हवाई अड्डे के पास आ रहा था, जो रूसी हमले के बाद कई दिनों तक सरकारी नियंत्रण में रहा।

रूसी सेना ने सोमवार को यूक्रेन की राजधानी और दूसरे सबसे बड़े शहर कीव पर गोलाबारी की, जिससे एक रिहायशी इलाका हिल गया। यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने कहा कि चरणबद्ध गोलाबारी का उद्देश्य उन्हें रियायतों के लिए मजबूर करना था। ज़ेलेंस्की ने सोमवार देर रात एक वीडियो संबोधन में कहा, "मेरा मानना ​​है कि रूस इस सरल तरीके से यूक्रेन पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है।"

यह भी पढ़ें : भूत जोलोकिया मिर्च से बनती है ये अरूणाचली चटनी, खाने वाले हमेशा रखते हैं याद

यूक्रेन में जारी रूसी सैन्य कार्रवाई के बीच रूसी सेना ने अब खेरसॉन शहर पर हमला करना शुरू कर दिया है। अधिकारियों ने मंगलवार को यह जानकारी दी। यूक्रेन की स्टेट सर्विस फॉर स्पेशल कम्युनिकेशंस एंड इंफॉर्मेशन प्रोटेक्शन ने बताया," प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार, दुश्मन (रूसी सेना) हवाई अड्डे से निकोलेव राजमार्ग और कोल्ड स्टोरेज प्लांट के पास एक रिंग की ओर बढ़ रहा है।"

खेरसॉन के स्थानीय प्रशासन ने सोशल मीडिया पर सूचना दी कि शहर को रूसी सैनिकों ने घेर लिया है लेकिन फिलहाल शहर पर कब्जा नहीं हुआ है। शहर के महापौर ने बताया कि रूसी सेना ने शहर के प्रवेश मार्ग पर नाकाबंदी कर दी है। महापौर इगोर कोलिखाये ने फेसबुक पर लिखा, "यह कहना मुश्किल है कि भवष्यि में क्या होगा। खेरसॉन युक्रेन का था और रहेगा।" उन्होंने कहा,"मैं आप सभी से शांत और सावधान रहने का अनुरोध करता हूं। कर्फ्यू के दौरान बाहर न निकलें। दुश्मन को लड़ाई के लिए न उकसाएं।" इससे पहले बीबीसी ने कहा था कि खेरसॉन हवाई अड्डे के पास धमाके हुए हैं।