अमरीका ने काला सागर में डूबे रूस के शक्तिशाली युद्धपोत मोस्कोवा को निशाना बनाने के लिए यूक्रेन को खुफिया जानकारी दी थी। अमरीकी अधिकारियों के हवाले से एक रिपोर्ट में इसका जिक्र किया। रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि मोस्कोवा 13 अप्रैल को मरम्मत के लिए सेवस्तोपोल बंदरगाह के अपने रास्ते पर था, तभी आग लगने की वजह से इसमें विस्फोट हुआ और यह दुर्घटना का शिकार हो गया। 

ये भी पढ़ेंः भारतीय मार्केट में आएगा नया ट्रेंड, ये कंपनी अपने कर्मचारियों को ऑफिस में सोने के लिए देगी समय


हालांकि, वाशिंगटन और कीव की तरफ से बार-बार यह दावा किया जाता रहा है कि जहाज यूक्रेनी मिसाइल हमलों से नष्ट हुआ है। दो वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया, यूक्रेन के पास पहले से ही मोस्कोवा युद्धपोत को निशाना बनाने का डेटा मौजूद था और अमेरिका ने केवल इसके सही होने की पुष्टि की थी। हालांकि, इस कथित मिसाइल हमले के लिए अमेरिका की तरफ से मिली खुफिया जानकारी की काफी अहमियत थी। 

ये भी पढ़ेंः Tajinder Singh Bagga Arrest: BJP नेता तजिंदर सिंह बग्गा गिरफ्तार, केजरीवाल एक सच्चे सरदार से डर गए : कपिल मिश्रा


रिपोर्ट के मुताबिक एक अधिकारी ने कहा है कि अमेरिका ने जहाज के मौजूद रहने की जगह के बारे में बताने के अलावा भी काफी मदद की है। रूसी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि इस दुर्घटना में एक सैनिक की मौत हुई है और चालक दल के अन्य 27 सदस्य अभी भी लापता हैं। रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, चालक दल के बाकी 396 सदस्यों को अन्य जहाजों से सेवस्तोपोल पहुंचाया गया।