अमरीका ने दावा किया है कि रूस ने दोनेत्सक के पास आत्मसमर्पण की कोशिश करने वाले यूक्रेनी नागरिकों को मौत के घाट उतार दिया और संबंध में उसके पास पुख्ता सूचना है। वैश्विक आपराधिक न्याय के लिए उच्च पद पर राजदूत बेथ वान शाक ने संयुक्त राष्ट्र में कहा, हमारे पास पुख्ता जानकारी है कि दोनेत्सक के आसपास के क्षेत्र में एक रूसी सैन्य इकाई ने आत्मसमर्पण करने की कोशिश कर रहे यूक्रेनी नागरिकों हिरासत में लेने की बजाय उन्हें मौत के घाट उतार दिया। 

ये भी पढ़ेंः अमेरिका को भारी पड़ी ऐसी रिपोर्ट देना, हिंदू संगठनों ने मचा दिया घमासान


उन्होंने कहा, अगर यह सत्य है, तो यह युद्ध के मूल सिद्धांत का उल्लंधन होगा। शाक ने दावा किया है कि अमेरिका के पास पुख्ता रिपोर्ट है कि नागरिकों को उनके हाथों को बांधकर मारा गया है, उन्हें प्रताड़ति किया गया जिसका शवों पर निशान भी है। महिलाओं और लड़कियों के साथ यौन उत्पीडऩ भी किया गया। उन्होंने कहा, तस्वीरों और रिपोर्टों से पता चलता है कि यूक्रेनी नागरिकों को यातनाएं किसी एक सैन्य इकाई और व्यक्तियों ने नहीं दी है, बल्कि इससे यह पता चलता है कि सभी क्षेत्रों में जहां रूसी सेना है वहां यूक्रेनी नागरिकों के साथ इस तरह का व्यवहार सोची समझी चाल के तहत किया जाता है। 

ये भी पढ़ेंः अब बौखला गए हैं रूस के राष्ट्रपति पुतिन, पश्चिमी देशों को आखिरकार दी अंतिम चेतावनी


सीएनएन के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका ने यूक्रेन हुए अत्याचारों की अंतरराष्ट्रीय अपराध न्यायालय से जांच का स्वागत किया है। शाक ने कहा, हमें स्पष्ट होने की आवश्यकता है और जिन लोगों ने इन अपराधों को अंजाम दिया या इनके लिए आदेश जारी किया उन्हें जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, रूसी सेना और राजनीतिक नेतृत्व को हमारा सीधा संदेश है कि दुनिया आपको देख रही है और इसके लिए आप जिम्मेदार होंगे। शाक ने कहा, यूक्रेन में हुए अत्याचार पर अंतरराष्ट्रीय जांच की श्रृंखला को अमेरिका समर्थन दे रहा है। इसमें अंतरराष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय, संयुक्त राष्ट्र और यूरोप में सुरक्षा तथा सहयोग संगठन द्वारा संचालित जांच शामिल हैं।