रूस ने यूक्रेन के ओख्तिरका में तीन वैक्यूम बम गिराए हैं। एक वरिष्ठ अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। विदेश मामलों के प्रथम उपमंत्री एमिन द्जेप्पर ने ट्वीट किया कि सुम्सका क्षेत्र पर रूस ने तीन वैक्यूम बम गिराये हैं। उन्होंने कहा कि वैक्यूम बम थर्मोबैरिक हथियार के अंतर्गत आते हैं जो जेनेवा कंवेंशन के तहत प्रतिबंधित हैं। 

ये भी पढ़ेंः रूस के अलावा भारत के पास है ये पांच खतरनाक हथियार, उड़ी रहती है पाकिस्तान और चीन की नींद


यूक्रेन की राजदूत ओकसाना मार्कारोवा ने यह दावा किया है। उनकी माने तो युद्ध के पांचवें दिन रूस ने सभी नियम तोड़ते हुए प्रतिबंधित वैक्यूम बम का इस्तेमाल किया है। ये बम काफी शक्तिशाली माना जाता है और भारी तबाही मचा सकता है। उन्होंने कहा, यूक्रेन इसका विरोध करेंगा, हम अपने घरों की सुरक्षा कर रहे हैं, हमारे पास कोई अन्य विकल्प नहीं है। हम थकेंगे नहीं, हम रुकेंगे नहीं, हम आत्मसमर्पण नहीं करेंगे। 

ये भी पढ़ेंः रूस और यूक्रेन के बीच चल रही जंग में उतरा गूगल, पुतिन को दिया ऐसा बड़ा झटका, देखें ये रिपोर्ट


एक रिपोर्ट  के अनुसार, बम, जिसे थर्मोबैरिक हथियार या एरोसोल बम के रूप में भी जाना जाता है, एक बड़ा और अधिक विनाशकारी विस्फोट करने के लिए वातावरण से ऑक्सीजन सोखा लेता है। रूसी तोपखाने ने ओख्तिरका में एक सैन्य अड्डे पर हमला करने के बाद वहां 70 से अधिक यूक्रेनी सैनिक मारे गए थे।