यूक्रेन और रूस के बीच छिड़ी भीषण जंग में अब गूगल भी उतर गया है। दरअसल गूगल ने रूस के खिलाफ बड़ा फैसला लेते हुए उसकी मीडिया कंपनियों रशिया टुडे और स्पूतनिक के यूट्यूब चैनलों को ब्लॉक करने का फैसला लिया है। यूट्यूब की पेरेंट कंपनी गूगल ने यह फैसला मंगलवार को लिया। इस फैसले के तहत पूरे यूरोप में दोनों मीडिया संस्थानों के यूट्यूब चैनल ब्लॉक रहेंगे। रशिया टुडे और स्पूतनिक रूस सरकार के मीडिया संस्थान हैं और इन्हें ब्लॉक करने का अर्थ है कि रूस की सरकार की राय को अन्य देशों में न फैलने देना।

ये भी पढ़ेंः Russia-Ukraine War के खार्किव गोलाबारी में भारतीय छात्र की दर्दनाक मौत


YouTube के स्पोकपर्सन की ओर से जारी एक बयान में बताया गया है कि हमारे सिस्टम को पूरी तरह से रैम्प-अप होने में वक्त लगेगा। हमारी टीम लगातार स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। YouTube और Facebook के अलावा Twitter ने भी रूसी मीडिया के खिलाफ कदम उठाया है।  Twitter ने बताया है कि उन्होंने रूस की सरकार मीडिया के कंटेंट वाले ट्वीट्स की रीच को घटा दिया है। बता दें कि रूस ने पिछले हफ्ते फेसबुक पर आंशिक रूप से रोक लगाई थी, जिसके बाद रूस में इस प्लेटफॉर्म की स्पीड काफी स्लो हो गई थी। ऐसा ही कुछ Twitter के साथ भी हुआ है। Twitter ने भी जानकारी दी थी कि बहुत से यूजर्स रूस में उनके प्लेटफॉर्म को एक्सेस नहीं कर पा रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः यूक्रेन में चल रही खूनी हिंसा के बीच जो काम कोई नहीं कर पाया वो PM Modi ने कर दिया, जानिए कैसे


आपको बता दें कि रूस और यूक्रेन के बीच पिछले छह दिनों से जारी जंग में रूस के 5710 सैनिक मारे गए हैं। रूस ने छह दिनों में यूक्रेन में अपने सैनिकों का प्रतिशत 40 से बढ़ाकर 75 कर किया है। सैन्य विशेषज्ञों के अनुसार, यूक्रेन के सशस्त्र बलों के जनरल स्टाफ ने मंगलवार को एक आधिकारिक बयान जारी किया। जिसमें यह बताया गया है कि पिछले छह दिनों में रूस के 5710 जवान मारे गए हैं।