रूस के रक्षा मंत्रालय (Russian Defense Ministry) के प्रवक्ता इगोर कोनाशेंकोव ने शुक्रवार को कहा कि यूक्रेन के 150 से अधिक सैनिकों ने अपने हथियार डाल दिये हैं और रूसी सेना के समक्ष आत्मसमर्पण (Ukrainian troops surrender) किया है। कोनाशेंकोव ने कहा, युद्ध के दौरान 150 से अधिक सैनिकों ने अपने हथियार डाल दिये और आत्मसमर्पण कर दिया। मीन्यी आइसलैंड क्षेत्र में 82 यूक्रेन के सैनिकों ने अपने हथियार डाल दिये और रूसी सैन्य बलों के समक्ष स्वत: आत्मसमर्पण (Ukrainian troops surrender) कर दिया।  उन्होंने कहा, वर्तमान में उनसे कहा कि गया कि वे युद्ध में शामिल न होने संबंधी एक इन्कार पत्र पर हस्ताक्षर कर दें। उन्हें जल्द ही उनके परिजनों के पास भेज दिया जायेगा।

ये भी पढ़ें

इंजीनियर है यूक्रेन के राष्ट्रपति की पत्नी, दो बच्चों वाले इस परिवार का क्या हाल करेगा रूस!


यूक्रेन पर रूसी सेना के हमले के दूसरे दिन (Russia Ukraine crisis) शुक्रवार को राजधानी कीव में हुई कई हमलों के बाद राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की (President Volodymyr Zelensky) ने रूस से तुरंत युद्धविराम की अपील की। यूक्रेनी अधिकारियों के हवाले से बताया कि राजधानी पर रूसी सेना ने कई मिसाइलें दागीं। इस जोरदार हमले में कम से कम एक इमारत को नुकसान पहुंचा और मीडिया रिपोर्टों में बताया गया कि इस हमले में तीन लोग जख्मी हो गये। जेलेंस्की ने देश को दिये संदेश में रूस ने युद्धविराम की अपील की। 

ये भी पढ़ें

पहले कॉमेडियन थे यूक्रेन के राष्ट्रपति, रूस की इन फिल्मों में कर चुके हैं काम


उन्होंने पश्चिमी देशों से भी रूसी हमले को रोकने के लिए और कदम उठाये जाने की गुहार लगायी है। एक मीडिया हाऊस ने कीव (attack on capital Kiev) में तड़के चार बजे हुए हमलों की पुष्टि करते हुए कहा कि कीव की ओर रूसी सेना के बढऩे के दौरान पोजिंयाकी क्षेत्र में धमाके हुए। कीव में दो छोटे धमाकों की आवाज सुनी गयी, फिलहाल यह बताना तो संभव नहीं है कि इसका क्या मतलब हैं लकिन अफवाह है कि रूसी सेना राजधानी में घुस गयी है। यूक्रेनी सेना की ओर से जारी बयान में बताया गया कि राजधानी कीव के बाहरी इलाकों दिमेर और इवांकीव में यूक्रेनी सेना रूसी सेना से मोर्चा ले रही है और यहां पर बड़ी संख्या में रूस की बख्तरबंद गाडियों का जमावड़ा है। यूक्रेनी सैन्य बलों के आधिकारिक फेसबुक पेज पर कहा गया कि राजधानी के पश्चिमोत्तम इलाके में घुसी रूसी सेना का मुकाबला किया जा रहा है। इससे पहले रूसी सेना को राजधानी में घुसने से रोकने के लिए यूक्रेन की सेना (army of ukraine) ने तेतरिव नदी पर बने पुल को खुद ही ध्वस्त कर दिया था। राजधानी के बाहरी इलाके में हवाई क्षेत्र में रूसी सेना के साथ अब भी मुकाबला किया जा रहा है।