यूक्रेन को तबाह करने के लिए रूस ने खतरनाक चाल चली है, लेकिन ब्रिटेन ने एक नक्शा जारी कर रूस के सैन्य प्लान की पोल खोल दी है। दरअसल ब्रिटेन का कहना है रूस यूक्रेन पर चारों तरफ से हमला करने की योजना बना रहा है। इस बीच अमरीका ने भी दावा किया है रूस कभी भी यूक्रेन पर हमला कर सकता है। बता दें कि इस वक्त दोनों देशों के लाखों सैनिक आमने सामने तैनात हैं। 

ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने दावा किया कि रूस ने सोवियत संघ के विघटन के बाद पहली बार अपनी आधी से अधिक सेना को सीमा पर तैनात किया है। रूसी सेना अपने इलाके के साथ-साथ बेलारूस और काला सागर में भी मौजूद है। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, अगर राष्‍ट्रपति पुतिन टकराव चाहते हैं तो बड़ी तादाद में आम नागरिक मारे जाएंगे। ब्रिटेन के रक्षा मंत्रालय ने कहा, हमने इस बात के कोई साक्ष्‍य नहीं देखें हैं कि रूसी सेना यूक्रेन से लगती सीमा से सटे इलाके से पीछे हट रही है। रूस ने इतने बड़े पैमाने पर सेना को तैनात कर रखा है कि वह बिना किसी चेतावनी के हमला कर सकता है।

इस बीच अमेरिका ने गुरुवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को बताया कि उसकी जानकारी स्पष्ट रूप से इंगित करती है कि यूक्रेन की सीमाओं के पास जमा 1,50,000 से अधिक रूसी सैनिक ‘आने वाले दिनों में’ यूक्रेन पर हमला करने की तैयारी कर रहे हैं। रूस ने क्रीमिया, बेलारूस और दक्षिण पश्चिम रूस में एक लाख से ज्‍यादा सैनिकों को तैनात कर रखा है। इसके अलावा रूस उत्‍तरी अटलांटिक समुद्र, बाल्टिक सागर और भूमध्‍य सागर में 'असामान्‍य' रूप से नौसैनिक अभ्‍यास चला रहा है। ब्रिटेन ने कहा कि पुतिन नाटो और रूस के बीच यूक्रेन को एक बफर जोन के रूप में देखते हैं। साथ ही यूक्रेन को पुतिन ऐतिहासिक और सांस्‍कृतिक रूप से रूस का हिस्‍सा मानते हैं।