जिस समय रूसी सेनाएं हर जगह से यूक्रेन पर हमला कर रही हैं, उस समय यूक्रेन का एक जोड़ा अपनी शादी के पहले दिन अपने राष्ट्र की रक्षा के लिए राइफलें लेकर खड़ा हो गया है। इनका नाम स्वियातोस्लाव फुर्सिन और यारिना एरीवा है

ये भी पढ़ें

अब खूनी बन चुके हैं रूस के सैनिक, यूक्रेन में तीन बच्चों सहित बिछा दी इतने लोगों की लाशें


यूक्रेन में रूसी सैन्य अभियानों की घोषणा के कुछ ही घंटों बाद उन्होंने शादी कर ली, इसलिए युगल ने राइफल लेकर अपने राष्ट्र की रक्षा करने वाली लड़ाई में शामिल होने के लिए खुद को तैयार करने का फैसला किया। रिपोर्टों के अनुसार, यूक्रेन के फुर्सिन और अरीवा दोनों ने प्रादेशिक रक्षा बलों के साथ करार किया है, जो देश की सशस्त्र बलों की एक शाखा है, जिसमें ज्यादातर स्वेच्छा से काम करने वाले लोग शामिल हैं। राइफलों से लैस होने के बाद दंपति सीधे यूरोपीय सॉलिडेरिटी राजनीतिक दल के कार्यालय की ओर चले गए। अपने फैसले के बारे में बोलते हुए अरीवा ने कहा कि वह और उनके पति देश की रक्षा के लिए वह सब कुछ कर रहे हैं जो वे कर सकते हैं और करने के लिए बहुत कुछ है लेकिन फिर भी उन्हें उम्मीद है कि सब कुछ ठीक हो जाएगा।

ये भी पढ़ें

यूक्रेन से भारत की बेटी ने रोते हुए कहा, मां-अब जिंदगी का कोई भरोसा नहीं, बचा लो


उन्होंने आगे बताया कि कुछ नागरिकों को जो रक्षा बलों का हिस्सा नहीं हैं, उन्हें राइफलें भी प्रदान की जा रही हैं। यूक्रेन में रूसी सैन्य अभियान के दूसरे दिन शुक्रवार 25 फरवरी को स्थानीय मीडिया की रिपोर्टों के अनुसार कीव शहर में भारी संख्या में विस्फोटों की आवाज सुनी गई। इस बीच, यूक्रेन में भारतीय दूतावास की पहल के बाद एक दिन पहले जारी की गई एडवाइजरी के बाद कई भारतीय छात्रों को सुरक्षित स्थानांतरित कर लिया गया है।