रूस यूक्रेन पर जीत हासिल करने के लिए 27 दिन से युद्ध कर रहा है लेकिन रूस के अंदरूनी सच यह है कि रूस अपने ही देश में कमजोर हो रहा है। रसिया में भूख की मार देखने को मिल रही है। रूस में आर्थिक हालात खराब होते जा रहे हैं। कई बड़ी कंपनियां रूस में बंद हो चुकी है इसी के साथ लोगों में घर के राशन की किल्लत देखी जा रही है। हाल में एक वीडियो सामने आया है जो रूस की एक खौफनाक तस्वीर बयां करता है।

यह भी पढ़ें- इस कारण से हुआ था China का plane crash, जानिए रोंगटे खड़े कर देने वाला राज


वीडियो में एक सुपरमार्केट में रूसी दुकानदारों को चीनी के लिए आपस में लड़ते देखा जा रहा है। इस वीडियो को सोशल मीडिया पर लोग जमकर शेयर कर रहे हैं, कई यूजर देश में बन रही इस स्थिति के लिए पुतिन को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। बता दें कि रूस यूक्रेन में चल रहे युद्ध के दौरान रूस के सभी स्टोर्स में केवल 10 किलोग्राम चीनी रखने की सीमा तय कर दी है।



यह भी पढ़ें- फांगनोन कोन्याक हो सकती है नागालैंड को पहली महिला राज्यसभा सांसद

वहीं दूसरी तरफ रूस में चीनी की कीमत आसमान छू रही है। मिली जानकारी के अनुसार साल 2015 के बाद से रूस में वार्षिक मुद्रास्फीति अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच गया है। जिसके कारण चीनी की कीमत लगभग 31 प्रतिशत तक बढ़ गई है। वहीं सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस वीडियो में, शॉपिंग कार्ट से चीनी के बैग लेने के लिए लोगों की भीड़ को आपस में लड़ते और धक्का-मुक्की करते देखा जा सकता है।

इस युद्ध ने दोनों देश में महंगाई बढ़ा दी है। वहीं दूसरी रूस द्वारा चीन पर लगातार हो हमले के कारण कई पश्चिमी देशों ने प्रतिबंध लगा दिया है जिसके कारण कई अन्य उत्पाद भी महंगे होते जा रहे हैं। रूस में पश्चिमी देशों द्वारा प्रतिबंध लगाए जाने के कारण टेलीविजन जैसे विदेशी आयातित सामानों की भारी कमी हुई है। रूसी सरकार ने मुद्रा नियंत्रणों को लागू करके मुद्रास्फीति को नियंत्रण में रखने का प्रयास किया है।