राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh का नागपुर स्थित मुख्यालय इस वक्त आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) के निशाने पर है. खुफिया सूत्रों द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक जैश के आतंकियों ने हाल में संघ मुख्यालय की रेकी की है. सूत्रों के मुताबिक संघ के बड़े नेता भी आतंकियों के निशाने पर हैं.

नागपुर के कमिश्नर अमितेश कुमार ने बताया है कि कुछ दिनों पहले नागपुर में जैश-ए-मुहम्मद  (Jaish-e-Mohammed) के कुछ लोग आये थे और कई महत्वपूर्ण ठिकानों की उन्होंने रेकी की है, जिसके बाद इन ठिकानों की सुरक्षा बढ़ा दी गयी है. हालांकि मामला संवेदनशील होने की वजह से पुलिस कमिश्नर ने अधिक जानकारी देने से साफ मना कर दिया है.

फोटोग्राफी और ड्रोन उड़ाने पर पाबंदी

शहर के पुलिस कमिश्नर ने कहा है कि संघ मुख्यालय परिसर और उसके पास के इलाकों में फोटोग्राफी और ड्रोन उड़ाने पर पाबंदी लगा दी गई है. ठीक इसी तरह की सावधानी अन्य जगहों को लेकर भी बरती जा रही है. कमिश्नर के मुताबिक आतंकियों ने करीब 2-3 महीने पहले संघ मुख्यालय की रेकी की थी. लेकिन इसके बारे में पुलिस के अधिकारियों को बाद में जानकारी लगी.

साल 2006 में संघ मुख्यालय पर आंतकी हमला किया गया था

बता दें कि साल 2006 में संघ मुख्यालय पर आंतकी हमला किया गया था. तब सुबह चार बजे एक लाल बत्ती वाली एंबेस्डर कार में पहुंचे आतंकियों को सुरक्षाकर्मियों ने मार गिराया था.

आतंकियों को मार गिराने के बाद जब पुलिस ने कार की तलाशी ली थी तो उससे तीन एके 56, पांच किलो आरडीएक्स और 14 हैंड ग्रेनेड बरामद हुए थे. साथ ही पुलिस को एक टिफिन बॉक्स में भी आरडीएक्स बरामद हुआ था. तब सभी आतंकियों को लश्कर-ए-तैयबा से संबंधित बताया गया था. तब कहा गया था कि ये हमला पूरे देश में सांप्रदायिक हिंसा फैलाने के मंतव्य के साथ किया गया था. लेकिन पुलिस ने इसे नाकाम कर दिया था.