केन्द्र सरकार के तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान संगठनों के 27 सितंबर को भारत बंद के आह्वान पर पंजाब में रेल और सड़क यातायात पूरी तरह से ठप्प रहेगा। भारतीय किसान यूनियन (राजेवाल), जमहूरी किसान सभा, भारतीय किसान यूनियन दोआबा, कीर्ति किसान यूनियन और पेंडू मजदूर सभा के पदाधिकारियों ने आज यहां संयुक्त प्रेस सम्मेलन में कहा कि सभी संगठन संयुक्त तौर पर 27 सितंबर को जालंधर-फगवाड़ा राष्ट्रीय मार्ग पर बाठ कैसल के नजदीक धरना लगाएंगे।

इस दौरान एम्बुलेंस के अतिरिक्त किसी भी प्रकार के वाहन को चलने की इजाजत नहीं दी जाएगी। उन्होंने अकाली दल संयुक्त को चेतावनी देते हुए कहा कि वे किसान संयुक्त मोर्चा के खिलाफ टिप्पणियां कर केन्द्र सरकार का साथ देने के बजाए अपनी गलतियों को सुधारें। 

किसान संगठनों ने दुकानदारों, व्यापारियों और मजदूर वर्ग से अपील की है कि वे 27 सितंबर को अपने कारोबार बंद रख कर रोष प्रदर्शन में शामिल हों ताकि केन्द्र सरकार को कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए मजबूर किया जा सके।